करोड़पति बनने की ख्वाहिश में लड़की ने किया यह काम, परिवार ने घर से निकाला

नई दिल्ली (15 जनवरी): शॉर्ट कट अपनाकर जल्द अमीर बनने की चाह आज युवाओं को अपराध की दलदल में ले जा रही है। ऐसा ही कुछ किया आरती नाम की एक युवती ने, जिसने प्रेमी ऋषिराज मीणा के साथ मिलकर आगरा और मैनपुरी में ब्लैकमेलिंग की पांच वारदात को अंजाम दिया।

आरती की अनैतिक गतिविधियों के कारण ही परिवारवालों ने उसे घर से निकाल दिया था। आरती करीब तीन माह तक आगरा में रही थी और वहां पर ऋषिराज भी उससे मिलने जयपुर से जाता था। यह खुलासा आरोपी ऋषिराज व आरती ने पुलिस की पूछताछ में किया है। करोड़पति बनने के लिए ऋषिराज ने आरती को ब्रेन वॉश कर दिया था।

- आरोपी ऋषिराज का मैनपुरी में ही आरती से संपर्क हुआ था।

- इसके बाद ऋषिराज ने रोहित नाम के युवक से आरती को फोन कराया और रेलवे में नौकरी लगाने का झांसा दिया।

- ऋषिराज ने रोहित के नाम से आरती से 25 हजार रु. एडवांस भी लिए थे।

- बाद में ऋषिराज ने ढ़ाई माह पहले आरती को रेलवे में नौकरी लगवाने का झांसा देकर जयपुर बुला लिया।

- जब रेलवे में नौकरी नहीं लगी तो आरती व ऋषिराज ने ब्लैकमेल करने की योजना बनाई। इसके लिए दोनों ने प्रेमनगर में आठ हजार रुपए किराये पर फ्लैट लिया था।

कैसे हुआ खुलासा

- पुलिस ने गुरुवार तड़के लड़की के दुष्कर्म के मामले में संदीप व उसके सात युवकों को हिरासत में लिया था। छात्रा संदीप के दोस्त की गर्लफ्रेंड थी।

- छात्रा ने ही अपने प्रेमी के साथ मिलकर संदीप व उसके साथियों को ब्लैकमेल करने के लिए गैंगरेप की कहानी रची थी।

- पुलिस ने तकनीकी जांच के बाद सात जनों को हिरासत में ले लिया, फिर उन्हें और पीड़िता को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की तो कहानी ब्लैकमेलिंग की सामने आई।

- 9 जनवरी की रात उसी ने युवती को परिचित फ्लैट पर बुलाया था। यहां युवती से संदीप ने संबंध बनाए।