संसद में नए अवतार में दिखे गुलाम नबी आजाद, बिना कुछ बोले दिया ये संदेश

नई दिल्ली (5 फरवरी): संसद में आज राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होना था। इस मौके पर सदन में प्रधानमंत्री मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और सत्ता पक्ष के साथ-साथ विपक्षी पार्टियों के तमाम बड़े नेता मौजूद थे। इस मौके पर राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद खास अंदाज में सदन में पहुंचे। गुलाम नबी आजाद ने अपने सिर पर गांधी टोपी पहन रखी थी। दरअसल, गुलाम नबी आजाद अपने इस टोपी के जरिए सत्ता पक्ष को कुछ खास संदेश देना चाहते थे।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी, अध्यक्ष अमित शाह समेत बीजेपी के तमाम बड़े नेता कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते हैं। बीजेपी के मुताबिक कांग्रेस मुक्त भारत से उनका मतलब कांग्रेस कल्चर मुक्त भारत से है। वहीं कांग्रेस बीजेपी पर हिंसा और सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाते रहती है। इसी कड़ी में गुलाम नबी आजाद ने गांधी टोपी पहनकर बीजेपी को ये संदेश देने की कोशिश की आज भी कांग्रेस गांधी की विचारधार पर चल रही है और वो हिंसा-सांप्रदायिकता में विश्वास नहीं करती है। कांग्रेस एक पार्टी ही नहीं बल्कि एक विचारधारा है जो देश के कण-कण में समाहित है और लाख कोशिशों के बावजूद देश से इस विचारधारा को खत्म नहीं किया जा सकता है।

संसद में राष्ट्रपति कोविंद के अभिभाषण धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने जमकर केंद्र सरकार पर हमला बोला। जहां उन्होंने कहा कि सरकार पूरे विपक्ष को बनाया आतंकवादी बताने में जुटी है वहीं मौजूदा केंद्र सरकार 'गेम चेंजर' नहीं सिर्फ 'नेम चेंजर' बनकर रह गई है।