जाको राखे साइयां मार सके ना कोई: कार में 45 तड़पने के बाद जिंदा निकला शख्स

पीयूष गौर, गाजियाबाद (31 अगस्त): एनएच 2 पर एक भयानक सड़क हादसा हुआ। एक बस ने एक कार को रौंद डाला। कार चकनाचूर हो गई। हादसा इतना भयानक था कि किसी के जिंदा बचने की उम्मीद नहीं थी, लेकिन कार के अंदर चमत्कार हुआ। 45 मिनट तक एक इंसान कार के अंदर मौत से जूझता रहा और जीत गया। कार को काटकर उसे बाहर निकाला गया।

हादसे का शिकार हुई कार के आस-पास अच्छी खासी भीड़ जमा थी और लोग सांसों को थामे हुए चकनाचूर कार में फंसे शख्स को देख रहे थे। हादसे के बाद जैसे ही लोगों की नजर कार पर पड़ी, लोग हैरान हो गए। मानो कोई चमत्कार हो गया था। इतने भयानक हादसे के बाद किसी जिंदा बचना बिलकुल नामुमकिन था, लेकिन इस हादसे में कार की ड्राइविंग सीट पर बैठा शख्स जिंदा था। वो कार के ड्रैमेज हो चुके हिस्से में बुरी तरह से फंसा हुआ था।

इसके बाद कार में फंसे शख्स को निकालने की कवायद शुरू होती हैं। लोग हाथों से कार के हिस्से को उठाने की कोशिश करते हैं, लेकिन कामयाब नहीं पाते। इसके बाद मौके पर क्रेन लाई जाती है। पहले एक हुक लगाया जाता है, बात नहीं बनती तो फिर दो हुक लगाए जाते हैं और धीरे-धीरे कार के अगले हिस्स को उपर उठाया जाता है। इसके बाद कार में फंसा शख्स कार से निकल आता है और लोग तालिया बजाने लगते हैं।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=McEIAUvPMuc[/embed]