NSG मीटिंग को लेकर वीके सिंह ने दिया बड़ा बयान...

नई दिल्ली(3 जुलाई): न्‍यूक्‍लि‍यर सप्लायर्स ग्रुप (एनएसजी) में भारत की दावेदारी को लेकर विदेश राज्‍य मंत्री वीके सिंह ने कहा है कि एनएसजी की मीटिंग में भारत की एंट्री को लेकर क्‍या बात हुई, इस बारे में हमें कुछ भी नहीं पता। मीटिंग में भारत मौजूद ही नहीं था।

शुक्रवार को बलिया में एक प्रोग्राम के दौरान सिंह ने कहा कि एनएसजी की बैठक बंद कमरे में होती है। कोई नहीं जानता कि इस दौरान क्‍या हो रहा है। 'इसलिए जो भी बातें की जा रही हैं या जो भी लोग सुन रहे हैं, वह केवल अनुमान हैं। किसने, किससे क्‍या कहा, इसका कोई सबूत नहीं है। सच्‍चाई सिर्फ उनको पता है जो इस मीटिंग में मौजूद थे। चीन भारत का विरोध कर रहा है, मैं इस बारे में नहीं जानता। इसलिए मैं कहता हूं कि अगर मीडिया कुछ पब्लिश या ब्रॉडक्रास्‍ट करता है तो यह कहां से आता है? क्‍या आपने खुद से इस बारे में कभी कुछ पूछा? क्‍या विदेश मंत्रालय ने आपको इस बारे में बताया?

बता दें, फॉरेन मिनिस्ट्री ने एनएसजी में भारत की एंट्री को लेकर हुई बैठक का ब्‍योरा दिया था। फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन विकास स्वरूप ने चीन का बिना नाम लिए एक देश को जिम्‍मेदार ठहराया गया था। स्‍वरूप ने कहा था कि मैं पूरे भरोसे के साथ यह कह सकता हूं कि सिर्फ एक देश ने कई अड़चनों के आधार पर रुकावट पैदा की, जिसकी वजह से एनएसजी की मीटिंग में भारत की दावेदारी को लेकर कोई फैसला नहीं हो सका।