चौंक जाएंगे आप, क्योंकि इस छिपकली की कीमत है 40 लाख...

नई दिल्ली (21 जुलाई): भारत में शायद ही ऐसा कोई घर होगा, जिसमें छिपकली नहीं पाई जाती हो। अगर हम आपसे कहें कि इस छिपकली की कीमत 40 लाख रुपये हो सकती है तो शायद आप विश्‍वास नहीं करेंगे। लेकिन गिको नाम की एक ऐसी ही छिपकली है, जिसकी कीमत का अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता।

कौन सी है यह छिपकली:

- इस दुर्लभ छिपकली का नाम गीको है। - यह छिपकली 'टॉक के' जैसी शब्द की आवाज निकालती है। - इस वजह से इसे टॉके के नाम से भी जाना जाता है। - बाजार में इसकी कीमत 40 लाख रुपये है। - गीको नाम की इस छिपकली का मांस दवाइयां बनाने में इस्तेमाल होता है। - दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों में डायबिटीज, एड्स और कैंसर की परंपरागत दवाई बनाने में इसका इस्तेमाल होता हैऍ - साथ ही साथ मर्दानगी को बढ़ाने के लिए भी इस छिपकली का इस्तेमाल किया जाता है। - चीन में इसे ट्रेडिशनल मेडिसिन के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। - इंटरनेशनल ब्लैक मार्केट में इनकी खासी मांग है, यहां इनकी कीमत 40 लाख तक है।

कहां पाई जाती है: - यह छिपकली दक्षिण-पूर्व एशिया, बिहार, इंडोनेशिया, बांग्लादेश, पूर्वोत्तर भारत, फिलीपींस तथा नेपाल में पाई जाती है - जंगलों की लगातार कटाई की वजह से गीको नामक यह छिपकली अब खत्म होने की कगार पर है।