नोटबंदी से नक्सली परेशान, इस बैंक में फर्जी खाता खुलवाकर जमा करवाये 100 करोड़

गया (15 दिसंबर): 500 और 1000 के पुराने नोटों पर पाबंदी से कालेधन के कुबेर, आतंकवादी और नक्सलियों की कमर टूट गई है। देश की आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था के लिए नासूर बने नक्सलियों को समझ में नहीं आ रहा है कि वो अपने काली कमाई को कैसे सफेद करें।

इसी कड़ी में खबर आ रही है कि बिहार के गया में नक्सलियों ने यहां के बैंक ऑफ इंडिया में भारी तादद में फर्जी खाते खुलवाएं हैं और नोटबंदी के बाद उसमें 100 करोड़ रुपये से ज्यादा के 500 और 1000 के पुराने नोट जमा करवाए हैं।

आयकर विभाग की टीम पिछले दो नक्सलियों के इन खातों की जांच में जुटी है जिसमें 8 नवंबर के बाद पैसे जमा करवाए गए हैं। इसी कड़ी में आयकर विभाग को यहां के एक कपडा व्यापारी का भी पता चला है जिसने नोटबंदी के बाद करोड़ों रुपये का फर्जीवाड़ा किया। 

इतना ही नहीं यहां कालेधन के कुबेर और बैंक कर्मियों के मिलीभगत का भी बता चला है। यहां बैंक कर्मियों ने एक महिला के नाम पर भी करोडो रुपये जमा कर दिए। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारी बैंक के सीसीटीवी फुटेज की भी जांच कर रहे हैं।