अब विश्व प्रसिद्ध होंगी गीर की गायें, सरकार ने बनाया ये बड़ा प्लान

नई दिल्ली ( 31 जनवरी ): शेर के बाद अब गुजरात की गीर की गाएं भी विश्व प्रसिद्ध होंगी। गुजरात में गौ संरक्षण कानून के बाद अब गायों को लेकर गोसेवा आयोग टूरिज्म लेकर आया है, जिसका मकसद गाय के धर्मिक महत्व के साथ उसकी वैज्ञानिकता को बढ़ावा देना है, ताकि गायों को कत्लखाने में जाने से रोका जा सके।

गुजरात के गीर के शेर जहां देश ओर दुनिया में जाने जाते हैं और जिसे देखने के लिये सालाना लाखों पर्यटक गुजरात आते हैं, वैसे ही अब गुजरात में गाय को लेकर गोसेवा आयोग ने गाय टूरिज्म शुरू किया है। इसके जरिए देश और दुनिया के लोगों को गुजरात की गीर गाय की नस्ल और काकरेज गाय की नस्ल को जानने और समझने का मौका मिलेगा। 

पर्यटकों को गोसेवा आयोग गीर गाय की गोशाला में ले जायेगा, जहां गीर गाय की अलग-अलग 18 नस्लों के बारे में जानकारी मिलेगी। ना सिर्फ गीर के गाय का दूध के महत्व बल्कि उससे बनने वाले गोमूत्र के अर्क, गोमूत्र से बनने वाली दवाई और गाय के दूध के फायदों को समझाया जायेगा. यही नहीं अगर कोई गाय को अपने घर में पालना चाहता है तो उसकी भी जानकारी यहां मुहैया करवाई जाएगी।