गांगुली की दो टूक, पाकिस्तान से क्रिकेट ही नहीं सभी खेलों में संबंध खत्म हो

Image: Google



न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 फरवरी): पुलवामा आतंकी हमले से खेल जगत भी गुस्से में है। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने पाकिस्तान के साथ सभी खेल रिश्ते तोड़ने की मांग की। गांगुली ने एक समय टीम इंडिया के अपने साथी रहे हरभजन सिंह का समर्थन करते हुए कहा कि विश्व कप के एक मैच में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलने से भारत की संभावनाओं पर असर नहीं पड़ेगा। हालांकि गांगुली ने यह नहीं बताया कि भारत का यह विरोध एक मैच के लिए सांकेतिक होना चाहिए या पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल या फाइनल में खेलने की स्थिति में भी भारत को मैदान पर नहीं उतरना चाहिए।





गांगुली ने एक समाचार चैनल से कहा, 'यह 10 टीमों का विश्व कप है और प्रत्येक टीम अन्य टीम के साथ खेलेगी और मुझे लगता है कि अगर भारत विश्व कप में एक मैच नहीं खेलता है तो यह कोई मुद्दा होगा।' उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि आईसीसी के लिए भारत के बिना विश्व कप में जाना काफी मुश्किल होगा। लेकिन आपको यह भी देखना होगा कि क्या भारत में आईसीसी को ऐसी चीज करने से रोकने की ताकत है। लेकिन निजी तौर पर मुझे लगता है कि कड़ा संदेश दिया जाना चाहिए।'  गांगुली ने कहा कि भारत को पड़ोसी देश से सभी संबंध तोड़ देने चाहिए।






टीम इंडिया के पूर्व कप्तान गांगुली ने कहा कि भारत को पड़ोसी देश से सभी संबंध तोड़ देने चाहिए।  उन्होंने कहा, भारत के लोगों ने जो भी प्रतिक्रिया दी वह सही है। इस घटना के बाद पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने की कोई संभावना नहीं है। मैं सहमत हूं कि इस हमले के बाद भारत को पाकिस्तान के साथ क्रिकेट, हॉकी या फुटबाल ही नहीं बल्कि सभी संबंध तोड़ देने चाहिए।





गांगुली से पहले हरभजन सिंह ने कहा था कि भारत को विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मैच नहीं खेलना चाहिए।  उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले के बाद माहौल अलग है।  हम पहले भारतीय हैं और उसके बाद क्रिकेटर हैं। एक तरफ आपके जवानों पर हमला हो और दूसरी ओर आप उसी मुल्क के साथ क्रिकेट खेलें, यह नहीं हो सकता।