मेरठ में नाबालिग के साथ गैंगरेप, पंचायत ने सुनाया शर्मनाक फरमान

नई दिल्ली (21 अप्रैल): मेरठ में एक नाबालिग के साथ कथित रूप से बलात्कार करने के बाद उसे ब्लैकमेल किया गया। पुलिस का कहना है कि परिवार और पंचायत ने खुद ही मामले को सुलझाने की कोशिश की लेकिन मामला अब हमारे हाथ में है और हम इसकी जांच कर रहे हैं। पीड़िता पिछड़ी जाति की है इसलिए इस केस में SC/ST ऐक्ट भी लगेगा। 

आरोप है कि गांव के ही दो दबंगों ने पहले एक दलित किशोरी को अपनी हवस का शिकार बनाकर उसका अश्लील वीडियो बनाया। इसके बाद आरोपी वीडियो की मदद से उसे ब्लैकमेल करने लगे कि वो उनकी करतूत किसी को ना बताए।

लेकिन कुछ महीनों बाद पीड़िता गर्भवती हो गयी और दरिंदों को करतूत उजागर हो गई। मामला पंचायत में पहुंचा। घटना को लेकर पंचायत बैठी और पीड़िता की अस्मत की कीमत 3 लाख रुपये लगा दी गई। तीन महीने की गर्भवती पीड़िता का अबॉर्शन भी करा दिया गया।  जैसे ही पंचायत मीडिया की सुर्खियां बनी तो पुलिस ने इस मामले में पीड़ित परिवार की तहरीर पर दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। 

वही पीड़िता परिवार पैसे नहीं इंसाफ की मांग कर रहा है। एक तरफ देश में रेप की घटनाओं से बवाल मचा हुआ है वहीं दूसरी तरफ पंचायत ऐसे शर्मनाक फरमान सुनाकर दरिंदों के हौसलों को और बुलंद कर रहे हैं।