ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ये है धोनी का जीत का गेम प्लान

मोहाली (26 मार्च): ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धोनी ने अपने सबसे बड़े हथियार को कैसे तैयार किया है, क्या है धोनी का प्लान। कैसे मोहाली में हो रही है महाभारत की तैयारी, आइए जानते हैं...

साफ है कि भारत-ऑस्ट्रेलिया के मैचों में बदले की अनगिनत कहानियां होती है। वैसे भी मोहाली की लड़ाई में जो टीम हारेगी वो वर्ल्ड कप से बाहर होगी। ऐसे में धोनी के सामने सिर्फ और सिर्फ एक ही लक्ष्य है, ऑस्ट्रेलिया को हराना।

टीम इंडिया का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रिकॉर्ड भारतीय मैदान पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया की सफलता 100 फीसदी रही है। भारतीय मैदान पर टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया 2 बार आमने सामने हुई हैं और दोनों ही मैच टीम इंडिया के नाम रही है। जबकि दोनों टीमें टी 20 फॉर्मेट में अभी तक 12 बार आमने सामने हुई हैं। इसमें 8 बार जीत टीम इंडिया के नाम रही है। 4 बार बाजी ऑस्ट्रेलिया ने मारी है। यानि कि रिकॉर्ड धोनी के साथ हैं।

रोहित शर्मा का रिकॉर्ड वनडे में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दोहरा शतक लगाने वाले रोहित टी 20 फॉर्मेट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ और भी खतरनाक रुप अख्तियार कर लेते हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 12 मैचों की 10 पारियों से रोहित ने 252 रन बनाए हैं 52 की औसत से। लेकिन पिछले 3 मैच से सिर्फ 23 रन बनाने वाले रोहित को अपने फॉर्म का इंतजार है।

धोनी अपने शानदार ओपनर रोहित को लेकर किसी प्रकार का जोखिम नहीं उठाना चाहते। यही कारण है कि वो रोहित को मैच से पहले गोल्फ क्लब लेकर पहुंचे और वो भी दो-दो कोच के साथ। उनके साथ रवि शास्त्री और संजय बांगर। 

बता दें कि तनाव कम करने के लिए धोनी अकसर दूसरे खेलों में भी हाथ आजमाते रहते हैं। लेकिन ये पहला मौका है जब धोनी ने रोहित को साथ ले जाने का फैसला किया है, ताकि टी 20 वर्ल्ड कप के सबसे अहम मैच में रोहित एक बार फिर टीम इंडिया के लिए रनमशीन साबित हो सके।

टीम इंडिया का एक्स फैक्टर मोहाली में टीम इंडिया के लिए एक्स फैक्टर साबित हो सकते हैं युवराज सिंह। मोहाली युवराज का होम ग्राउंड है। मोहाली में टीम इंडिया ने अब तक सिर्फ 1 टी 20 मैच खेला है। साल 2009 के इस मैच में टीम इंडिया ने श्रीलंका के खिलाफ 203 रनों का टारगेट हासिल किया था और युवराज ने ताबड़तोड़ पारी खेली थी। अब देखने वाली बात होगी कि मोहाली की लड़ाई में टीम इंडिया का ये प्लान कितना काम करता है।