आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों के अधिकारियों का जी20 में प्रवेश पर लगे प्रतिबंध: PM मोदी

नई दिल्ली (7 जुलाई): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी20 को संबोधित करते हुए आतंकवाद पर भी बात की। उन्होंने कहा कि ग्लोबल इकॉनमी और आतंकवाद के नियम मामले में इसे नेतृत्व दिखाने की जरूरत है। पाकिस्तान का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि आतंकवाद का साथ देने वाले देशों के खिलाफ जी-20 के सभी देशों को एकजुट होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए और ऐसे देशों के अधिकारियों का जी20 देशों में प्रवेश पर प्रतिबंध लगे। उन्‍होंने कहा, “हिंसा और आतंकवाद की बढ़ती ताकत ने चुनौती खड़ी कर दी है। कुछ देश हैं जो इसे राष्‍ट्रीय नीति के रूप में इस्‍तेमाल कर रहे हैं। वास्‍तव में, दक्षिण एशिया में एक ही देश है जो हमारे क्षेत्र के देशों में आतंक फैला रहा है। आतंकी, आतंकी होता है। आतंकवाद के समर्थन करने वालों को अलग किया जाए और उन पर प्रतिबंध लगाए जाए। मैं अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय से अपील करता हूं कि एक होकर आतंकवाद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। आतंकवाद के खिलाफ भारत की जीरो टॉलरेंस की नीति है, क्‍योंकि इससे कम हमें कुछ भी पर्याप्‍त नहीं है।”

शनिवार को शिखर सम्मेलन का समापन सत्र होगा। इसके बाद जी-20 नेताओं की ओर से संयुक्त बयान जारी किया जाएगा।