पढ़िए आनंदी बेन पटेल के इस्तीफे का पूरा ड्राफ्ट...

गांधीनगर (1 अगस्त) : आनंदी बेन पटेल ने गुजरात के सीएम पद से इस्तीफा बीजेपी आलाकमान को भेज कर राजनीति को गरमा दिया।

यहां पढ़िए आनंदी बेन के इस्तीफे का पूरा ड्राफ्ट-

"पिछले 30 साल से बीजेपी कार्यकर्ता के रूप में काम करते करते मुझे अनेक जवाबदारी निभाने का अवसर मिला, संगठन और सरकार में मुझे पार्टी ने बहुत ही महत्व दिया, ये मेरा सौभाग्य हे।

महिला मोर्चा की जवाबदारी से लेकर मुख्यमंत्री के पद तक पार्टी का नेतृत्व करने में मुझ पर विश्वास रखा, जिसकी मैं कर्जदार हूं। कुशल संगठन, दीर्घ दृष्टि और कर्मठ आदरणीय श्री नरेंद्रभाई मोदी के नेतृत्व में पहले संगठन में और फिर सरकार में काम करने काम मौका मिला जिसके कारण सत्यतापूर्वक मेरा निर्माण होता रहा, पिछले 18 सालो से गुजरात सरकार के बहुत ही महत्वपूर्ण विभागों में काम करते करते बहुत से रचनात्मक सुधार करके नयी जनहित योजनाओं को सरल बनाकर सरलता से प्रामाणिक करने में मेरा हमेशा से प्रयत्न रहा है।

साल 2014 में मुझे गुजरात राज्य की प्रथम महिला मुख्य मंत्री के तौर पर श्री नरेंद्रभाई और पार्टी के वरिष्ठ नेताओ ने कमान सौंपी जिसे मैं गुजरात की तमाम महिलाओं का गौरव समझती हूं।

श्री नरेंद्रभाई गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर 12 साल तक रहे और फिर उनकी जगह मेरा इस पद को संभालना मानों आसमान के तारे गिनने जैसा कठिन कार्य था। लेकिन मुझे इस बात का गर्व है की मैं गुजरात को तेजी से आगे बढ़ाने पीछे नहीं रही।

भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा , सिद्धांतों, अनुशासनबद्धता से प्रेरणा लेकर मैं पार्टी से जुड़ी थी और आज तक मैं उसका पालन करती रही हूं....पिछले कुछ समय से पार्टी में 75 साल की उम्र के बाद वरिष्ठ कार्यकर्ताओं स्वेच्छा से जवाबदारी से मुक्त होने की परम्परा शरू की है जो सबके लिए एक अनुकरणीय और अनुसरणीय हे जिसके कारण आने वाले नए कार्यकर्ता को काम करने का मौका मिले। मैं नवंबर महीने में 75 वर्ष की होने जा रही हूं, परंतु वर्ष 2017 के अंत में गुजरात में विधानसभा के चुनाव आने वाले हे और हर 2 वर्षो में राज्य के लिए महत्त्वपूर्ण वायब्रेंट गुजरात सम्मिट भी जनवरी 2017 में होने वाला है, उसके लिए नये मुख्यमंत्री को कुछ समय मिल सके। 2  महीने पहले पार्टी के वरिष्ठ नेतृत्व समक्ष मुझे इस जवाबदारी से मुक्त करने की मैंने विनती की है।"

- आनंदी बेन पटेल