संतरे के छिलके से बनेगा पेट्रोल !

नई दिल्ली (21 दिसंबर): विटामिन सी से भरपूर संतरा न केवल ढेरों फायदों से भरा है बल्कि इसके छिलकों का भी कई तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं। आपने ये तो सुना होगा की संतरे के छिलके को कई चीजों में इस्तेमाल किया जाता है। यह बेहतरीन बाथ ऑयल का काम करता हैं। इससे त्वचा की नमीं बरकरार रहती है। लेकिन क्या आपने सुना है कि संतरे के छिलके कार में भी इस्तेमाल किए जाते हैं। अगली बार जब आप संतरा खाने के बाद उसका छिलका फेंके तो एक बार जरूर सोचें।

यह आपको सुनने में जरूर अटपटा लग रहा हो लेकिन यह बिल्कुल सच है। अब संतरे के छिलके से गाड़ी में लगने वाला ईंधन तैयार होगा। संतरे के छिलके से तैयार ईंधन से कार दौड़ेगी। खबर है कि ब्रिटेन के वैज्ञानिक जेम्स क्लार्क ने एक ऐसा माइक्रोवेव बनाने का दावा किया है जो संतरे के छिलके को ईंधन में बदल देगा। इस ओवन को बनाने में जो खर्चा आएगा वह करीब दो लाख पौंड, लगभग डेढ़ करोड़ रुपए का हैं।

जेम्स के मुताबिक, इस ओवन में अखरोट और सेब के छिलके से भी ईंधन बनाया जा सकेगा। इस माइक्रोवेव में संतरे के छिलके में मौजूद अणुओ को तोड़कर उससे ईंधन तैयार किया जाता है। यह ओवन इन अणुओ से निकलने वाली गैस से न केवल ईंधन बल्कि तेल और प्लास्टिक का उत्पादन भी कर सकेगा। लेकिन इस ओवन की क्षमता काफी कम है।

 जेम्स एक घंटे में 30 टन कचरे को ईंधन में बदलने वाले ओवन पर काम कर रहे हैं। इस प्रयोग में कहा गया है कि संतरे का छिलका ईंधन का एक बहुत बढ़िया स्रोत है लेकिन दुनियाभर में हर साल लाखों टन संतरे के छिलके बर्बाद हो जाते हैं। संतरा का सबसे बड़ा उत्पादक देश ब्राजील में सालाना जूस निकालते वक्त 80 हजार टन संतरे का छिलका खराब जाता है हो। इस तरह पूरी दुनियाभर में संतरे के छिलके से तैयार अधिक ईंधन बनाया जा सकेगा।