WATCH: दोस्त ने ही ले ली दोस्त की जान

राजीव चावला, उधमसिंह नगर (9 जुलाई): उधमसिंह नगर के खटीमा में प्रोपर्टी का काम करने वाले सूरज चंद 6 दिन पहले लापता हो गए। पुलिस ने गुमशुदी की रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की। लगातार 5 दिनों की जांच के बाद जब सच सामने आया तो फिर हर किसी के होश उड़ गए। सूरज की हत्या के आरोप में ललित ज्याला के साथ उनके तीन साथी को भी गिरफ्तार किया गया है।

दरअसल सूरज और ललित प्रोपर्टी का काम करते थे। ललित से सूरज को अपने पैसे लेने थे जबकि ललित की नीयत खराब हो चुकी थी। 3 जुलाई को ललित ने सूरज को फोन कर प्रोपर्टी दिखाने के बहाने से बुलाया और फिर अपने तीन साथी के साथ मिल कर अपने दोस्त का गला घोट दिया।

पुलिस को पूछताछ में ललित ने बताया कि सूरज उसकी 80 लाख की प्रोपर्टी 50 लाख में लेना चाहता था, जिसके लिए सूरज पुराने दस्तावेजों के सहारे ब्लैकमेल कर रहा था। ललित के साथ उनके तीन साथी ने किसी पेशवेर मुजरिम की तरह हत्या को अंजाम देते हुए शव को छिपाने में कामयाब हो गए थे। हत्या के बाद सूरज के शव को गटर में डाल कर उपर से सीमेंट लगा दिया गया ताकि किसी को कोई भनक ना लग सके।

लेकिन कहते हैं ना हर मुजरिम कोई ना कोई सुराग पीछे जरुर छोड़ जाता है और इस हत्याकांड में भी ललित व उनके साथियों ने यही गलती की। शव के साथ-साथ सूरज का फोन भी स्विच ऑफ कर गटर में डाल दिया था। जिसके बाद पुलिस ने फोन के लोकेशन का पता लगाया और फिर इस सनसनीखेज वारदात का सारा सच सामने आ गया।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=nWcXoMJVwZY[/embed]