नकली दाढ़ी और विग पहनकर न अदा करें नमाज, दारुल उलूम ने जारी किया फतवा

नई दिल्ली (9 अगस्त): इस्लामिक शैक्षिक संस्था दारुल उलूम देवबंद ने नमाज अदा करने को लेकर फतवा जारी किया है। इस फतवे में कहा गया है कि विग या नकली दाढ़ी लगाकर अदा की गई नमाज अधूरी होती है, इसलिए ऐसा नहीं करना चाहिए।

दारुल उलूम के प्रवक्ता अशरफ उस्मानी ने कहा, 'वजू (नमाज से पहले हाथ, मुंह और सिर धोना) और गुस्ल (नहाना) दो धार्मिक मान्यताएं हैं। लेकिन विग पहनने पर पानी सिर को पूरी तरह भिगा नहीं पाता, इससे वजू और गुस्ल के महत्व पर असर पड़ता है, क्योंकि शरीर अशुद्ध रह जाता है।'

उस्मानी ने कहा, 'अगर विग पहनना इतना ही जरूरी है तो वजू और गुस्ल के समय इसे हटा दें और बाद में नमाज के वक्त इसे पहन सकते हैं।' हालांकि उन्होंने यह साफ जाहिर किया कि हेयर ट्रांसप्लांट कराने वालों से उन्हें कोई परेशानी नहीं है। उन्होंने कहा, 'ट्रांसप्लांट कराए गए बाल नेचुरल बालों की तरह की होते हैं, और पानी आसानी से सिर की त्वचा को भिगा सकता है।'