'भारत पर हमले के लिए सुसाइड बॉम्बर तैयार कर रहा है ISIS'

नई दिल्ली(3 जुलाई): बांग्लादेश में हुए आतंकी हमले के बाद इंडियन सिक्युरिटी एजेंसीस अलर्ट पर हैं। लेकिन एक रिपोर्ट उनकी चिंता और बढ़ा रही है। पेरिस हमलों के बाद गिरफ्तार एक फ्रेंच आतंकी ने खुलासा किया है कि आतंकी संगठन आईएस कुछ भारतीयों को सुसाइड बाम्बर बनने की ट्रेनिंग दे रहा है।

भारतीय एजेंसियों को यह भी आशंका है कि बांग्लादेश का आतंकी संगठन जेएमबी आईएस की मदद से असम और बंगाल में हमले कर सकता है। पेरिस हमलों के बाद एक फ्रेंच नागरिक को गिरफ्तार किया गया था। इसका नाम रेडा हेम है। इसने पूछताछ में बताया कि वह सीरिया में आतंकी ट्रेनिंग ले चुका है।

हेम के मुताबिक, ट्रेनिंग के दौरान उसने करीब 100 विदेशी आतंकियों को देखा था। इनमें भारतीय भी शामिल थे। अमेरिका के साइट इंटेलिजेंस ग्रुप ने भी एक वीडियो के आधार पर यही बात कही थी। हेम के मुताबिक, ट्रेनिंग सीरिया के होम्स प्राविंस में हुई थी। वहां कई देशों के जिहादी मौजूद थे। इसमें भारतीय, चीनी, अमेरिकी और ब्रिटिश भी थे। 

इन लोगों को दूसरे देशों में जाकर आतंकी हमलों की ट्रेनिंग दी गई थी। हेम के के मुताबिक, आईएस ने एक फॉरेन विंग भी बनाई है। इसका चीफ बगदादी का स्पोक्सपर्सन अबु मोहम्मद अल अदनानी है। भारतीय एजेंसियों के मुताबिक, आईएस में करीब 25 भारतीय हैं। इनमें से छह मारे जा चुके हैं। पिछले साल गिरफ्तार किए गए मुंबई के अरीब मजीद ने भी यही बात कही थी। आईएस में भारतीयों को ज्यादा अच्छा फाइटर नहीं माना जाता। मजीद ने बताया था कि सीरिया और इराक में उनसे टॉयलेट तक साफ कराए जाते थे। 

एक रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 500 भारतीय आईएस के संपर्क में हैं। ये सभी इंटेलिजेंस एजेंसीज के रडार पर भी हैं। इन पर नजर रखी जा रही है। बहरहाल, हेम के खुलासे के बाद लगता है कि आईएस में भारतीयों की संख्या ज्यादा भी हो सकती है। ये आने वाले दिनों में सिक्युरिटी एजेंसीस के लिए बड़ा सिरदर्द साबित हो सकते हैं। एक और मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश भारत के असम और पश्चिम बंगाल में हमले कर सकता है। जेएमबी को आईएस का सपोर्ट हासिल है। रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले दिनों रूड़की और हैदराबाद में कुछ संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद ये साफ हो गया कि भारत पर खतरा बढ़ता जा रहा है।  ये भी कहा गया है कि इंडियन मुजाहिदीन और सिमी के कुछ काडर लश्कर और जैश जैसे आतंकी संगठनों के साथ भारत में हमले कर सकते हैं। 

पिछले हफ्ते ही हैदराबाद में आईएस के एक मॉड्यूल को एनआईए ने पकड़ा था। इसके बाद ये साफ हो गया कि आईएस भारत में पैर पसारने के लिए युवाओं को गुमराह करने की साजिश रच रहा है।  भारतीय एजेंसियों को सबसे बड़ा खतरा जेएमबी इसलिए भी लग रहा है क्योंकि बांग्लादेश भारत के पड़ोस में है। इसकी बॉर्डर वेस्ट बंगाल से लगती है। जेएमबी भारत के कुछ लोगों को साथ लेकर बॉर्डर से सटे राज्यों में हमले कर सकता है।  इसके इनपुट भी एजेंसीस के पास हैं। इसलिए पिछले दिनों बांग्लादेश और असम बॉर्डर पर बीएसएफ की तैनाती बढ़ा दी गई है।