चिप नहीं इस तरह से भी पेट्रोल पंप आपको दे रहे हैं धोखा


नई दिल्ली (23 मई): कुछ समय पहले पेट्रोल पंपों पर चिप के जरिए कम तेल देने का बहुत बड़ा खुलासा हुआ था, जिसके बाद यूपी समेत देश के कई राज्यों में इस तरह के पेट्रोल पंपों को जांच के बाद सीज किया गया। लेकिन अब खुलासा हुआ है कि कुछ पंप वाले कैशलेस ट्रांजेक्शन के जरिए ग्राहकों को ठग रहे हैं।


भोपाल के शाहपुरा स्थित बंसल हॉस्पिटल के पास राधे पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भरवाने गई तूलिका दुबे ने स्कूटी का टैंक फुल कराया। इसका बिल मांगा तो सेल्समैन ने कहा, मेन्युअल रसीद मिलेगी। पेमेंट के लिए क्रेडिट कार्ड दिया, तो सेल्समैन ने पंप की स्क्रीन पर दिख रही कीमत 130.38 पैसे की जगह 131 रुपए कार्ड स्वाइप मशीन में फीड किए, तो तूलिका ने विरोध किया। इस पर सेल्समैन ने अभद्र व्यवहार किया और क्रेडिट कार्ड से 130.38 तो काटे, लेकिन बिल नहीं दिया। इसके बाद उनसे कह दिया कि ऐसा ही करना है कि तो आइंदा यहां से पेट्रोल नहीं डलवाना।


आपके शहर में भी ऐसा ना हो रहा है, संभावना कम है। दिन भर में सैकड़ों लोग इसी तरह पेट्रोप पंप संचालकों की मनमानी का शिकार हो रहे हैं। तकरीबन 80 फीसदी लोगों से औसत 70 पैसे प्रति उपभोक्ता तक ज्यादा पैसे वसूले जा रहे हैं।


रूपेश कुमार ने 2 मई को फिलमोर सर्विस सेंटर से 4.74 लीटर पेट्रोल डलवाया। जिसका अमाउंट बना 359.62 रुपए। उन्होंने अपने क्रेडिट कार्ड से बिल का भुगतान किया तो फिलमोर सेंटर पर सेल्समैन ने क्रेडिट कार्ड से 359.62 रुपए की जगह 360 रुपए वसूले।


दीपांश ने प्रगति पेट्रोल पंप से एक्टिवा गाड़ी में पेट्रोल भरवाया। बिल बना 369.80 रुपए। उन्होंने जब कैशलेस ट्रांजेक्शन किया तो सेल्समैन ने पूरे 370 रुपए वसूले। उन्होंने इसकी शिकायत पंप के मैनेजर से की। मैनेजर ने आगे से गलती न होने का वादा करते हुए मामला रफा-दफा कर दिया।