अहमदाबाद: खाली करता था ATM, खोले हुए थे 39 अकाउंट

अहमदाबाद (3 अप्रैल): अहमदाबाद में एक ऐसा ठग पुलिस के हत्थे चढ़ा है जो एटीएम से लाखों रुपए निकाल लेता और अकाउंट से पैसे भी कम नहीं होते। इस शातिर ठग ने इसी तरह बैंकों को लाखों रुपये का चूना लगाया है।

पहले ये ठग एटीएम में बैंक का कार्ड डालता है। इसके बाद एटीएम में तमाम प्रक्रिया सामान्य तौर पर होती है। लेकिन जैसे ही खाते से निकलने के बाद एटीएम से बाहर आने को होती है, शुरू हो जाती है शातिराना हरकत। ये शख्स एटीएम की ट्रे डिसपेंसर को कुछ सेकेंड दबाकर रखता और जिसका असर धीरे-धीरे दिखने लगता है।

ट्रे को दबाने का नतीजा ये होता कि पैसे एटीएम से निकल जाते लेकिन सेंसर रकम को सही से पढ़ नहीं पाते। नतीजा ये होता कि पैसे एटीएम से निकल जाते लेकिन खाते से डेबिट नहीं होते। इस ठग का ये गोरखधंधा लंबे समय से चल रहा था लेकिन जब बैंकों ने पुलिस में शिकायत की तो ये पकड़ा गया।

सूरत के रहनेवाले इस शातिर ठग का नाम है रजनीकांत नवसारी वैसे तो कहने को ये एक कंपनी में काम भी करता है लेकिन ठगी से पैसा कमाना इसका धंधा बन चुका था। पुलिस के मुताबिक ठग रजनीकांत ने एटीएम से पैसों की ठगी के लिए करीब 39 अकाउंट खोले हुए थे। दर्जनों एटीएम का उपयोग कर आये दिन हजारो रुपये निकालता रहता था। अब तक ये 32 लाख की रकम इसी तरह से निकाल चुका था।

ठग रजनीकांत तो पुलिस के हथे चढ़ गया लेकिन उसके साथी अभी भी फरार है पुलिस ने इसके पास से दर्जनों पास बुक, एटीएम कार्ड और चेकबुक बरामद की है. करीबन ढाई लाख के आसपास की नकदी भी जबत् की है फ़िलहाल पुलिस इस मामले में और छानबीन कर रही है।