फ्रांस अटैक: भारतीय मूल की महिला ने बताया, ट्रक घुसा और हम होटल की तरफ भागे

नई दिल्ली(15 जुलाई): फ्रांस के नीस शहर में बास्तील डे का जश्न मना रहे लोगों पर हुए हमले में 80 लोग मारे गए। मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक, हमला काफी डरावना था।

सफेद रंग के ट्रक की स्पीड काफी तेज थी। करीब 1 से 2 किलोमीटर तक एक ट्रक सबको कुचलता गया। वहां मौजूद भारतीय मूल की महिला हरजीत ने बताया कि पहले हमें कुछ समझ ही नहीं आया। एक ट्रक घुसा और हमें लग गया कि कुछ गलत होने वाला है। हम होटल की तरफ भागे।

42 साल की हरजीत सारंग लंदन में सरोगेसी और एलजीबीटी लॉयर हैं। दो बच्चों और पति के साथ नीस में थीं। हमले के बाद उन्होंने ट्वीट कर बताया कि मैं सदमे में हूं। मुझे इस बात से नफरत है कि मेरे बच्चे इस घटना के गवाह बने। मैं उन्हें क्यों वहां ले गई। ऐसा उन्होंने क्यों किया? 

एक और ट्वीट में लिखा कि लोगों को इस तरह मारना काफी दर्दभर था। आगे मैं कभी भी अपने बच्चों को पब्लिक इवेंट में लेकर नहीं जाउंगी। मैं अब होटल में हूं। मुझे नफरत है इससे।