पठानकोट हमला: भारत को मिला फ्रांस-अमेरिका का साथ

नई दिल्‍ली (24 जनवरी): पठानकोट हमले पर भारत को दुनिया के दो ताकतवर देशों फ्रांस और अमेरिका का साथ मिला है। दोनों ही देशों में भारत का समर्थन करते हुए पाकिस्‍तान से इस मामले में जल्‍द कार्रवाई करने को कहा है।

भारत के दौरे पर आए फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने पठानकोट आतंकी हमले और भारत में पाकिस्तान से पोषित आतंकी हमले के बारे में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘फ्रांस कठोर शब्दों में पठानकोट आतंकी हमले की निंदा करता है। भारत ने ऐसे हमलों को अंजाम देने वालों को न्याय के कटघरे में खड़ा करने की उचित मांग की है।’ पाकिस्तान से पठानकोट आतंकवादी हमले पर कार्रवाई करने की भारत की मांग पर ओलांद ने कहा कि भारत ने इस हमले के लिए जिम्मेदार लोगों के साथ न्याय करने की मांग कर बिल्कुल सही किया है।

वहीं, पठानकोट में वायुसेना अड्डे पर आतंकी हमले को ‘भारत की ओर से लंबे समय से झेले जा रहे अक्षम्य आतंकवाद की एक और मिसाल’ करार देते हुए ओबामा ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शरीफ से संपर्क साधने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की। ओबामा ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए आज कहा कि इस्लामाबाद अपने यहां के आतंकी नेटवर्कों को ‘अवैध ठहरा कर, बाधित करके और तबाह करके’ अपनी सरजमीं से गतिविधियां संचालित करने वाले आतंकी समूहों के खिलाफ अधिक प्रभावी ढंग से कार्रवाई कर सकता है तथा उसे अवश्य करनी चाहिए।