फोगट बहनों समेत 4 रेसलर्स पर लगा बैन, ओलिंपिक का सपना टूटा

\

नई दिल्ली(30 अप्रैल): रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने बबीता कुमारी और गीता फोगट समेत 4 भारतीय रेसलर्स को कारण बताओ नोटिस भेज बैन लगा दिया है। इसे टेम्परेरी बैन करार दिया गया है। इसके साथ ही उनके ओलिंपिक में क्वालिफाई करने की संभावना भी खत्म हो गई।

फोगट बहनों के अलावा सुमित (125 किलो फ्रीस्टाइल) और राहुल अवारे (57 किलो फ्रीस्टाइल) भी बैन किए गए हैं। रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के एख अधिकारी ने बताया कि चारों पर टेम्परेरी बैन लगाया है साथ ही इस्तांबुल में होने वाले ओलिंपिक क्वालिफायर में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। 

ओलिंपिक क्वालिफाई के लिए इस्तांबुल (तुर्की) में 6-8 मई तक इवेंट होना है।  इससे पहले मंगोलिया की राजधानी उलानबाटर में पहला क्वालिफिकेशन राउंड हुआ था। एक अधिकारी के मुताबिक इन सभी रेसलर्स ने पिछले क्वालिफिकेशन में इनडिसिप्लिन दिखाया था। अगर प्लेयर को इन्जुरी हो जाए या फिर वह नहीं खेलना चाहे तो हिस्सा नहीं लेने का भी एक ऑफिशियली तरीका होता है। लेकिन इन चारों प्लेयर्स ने ऐसा करना जरूरी नहीं समझा। किसी प्लेयर के ऐसा करने से देश का भी नाम खराब होता है। रेसलिंग की इंटरनेशनल बॉडी ने भी उनके अगले क्वालिफिकेशन में हिस्सा लेने पर रोक लगा दी है।

बबीता 53 किलो कैटेगरी में रेसलिंग करती है। मंगोलिया में बबीता का रेपेचेज राउंड जब्त कर लिया गया। वहीं 58 किलो कैटेगरी में गीता इन्जुरी के चलते हिस्सा नहीं ले पाईं। मंगोलिया में सुमित के पास जीतने का मौका था। उन्हें रियो का टिकट भी मिल जाता। लेकिन इन्जुरी के चलते सुमित भी 125 किलो कैटेगरी में हिस्सा नहीं ले पाए।