थाई टेंपल के फ्रीजर से टाइगर के 40 मृत बच्चे मिले

नई दिल्ली (1 जून) :  थाईलैंड के प्रसिद्ध टाइगर टेंपल के फ्रीजर से टाइगर (बाघ) के 40 मरे हुए बच्चे मिले हैं। पुलिस और वाइल्डलाइफ ऑफिसर्स ने सोमवार को टाइगर टेंपल से सभी जीवित बाघों को मुक्त कराकर चिड़ियाघर भेजने के लिए अभियान शुरू किया था।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक कुछ पत्रकारों की ओर से सोशल मीडिया पर पोस्ट की गईं फोटो में बाघ के मरे हुए 40 बच्चों को लाइन में दिखाया गया है।  

वेस्ट बैंकॉक के कंचनाबुरी में स्थित ये स्थल पर्यटकों के आकर्षण का बड़ा केंद्र है। इसे सोमवार को वाइल्ड लाइफ डिपार्टमेंट की कार्रवाई के बाद से बंद कर दिया गया है।

टाइगर टेंपल में जब थाईलैंड का वन्य विभाग इंस्पेक्शन के लिए पहुंचा तो वहां पर हैरान कर देने वाला दृश्य सामने आया। वन्य विभाग ने बताया के यहाँ पर बाघ के मरे हुए 40 बच्चे सहित कई जानवरों की सींगे बरामद हुई।

पुलिस कर्नल बैंडिथ मीउंगसुकुम के मुताबिक वाइल्ड लाइफ विभाग अब नए सिरे से टेंपल के प्रबंधकों पर आपराधिक चार्ज फाइल करेगा। जब बाघ के ये बच्चे मरे तब उनकी उम्र मात्र एक या दो दिन की होगी। ये साफ नहीं हो सका कि बाघ के ये मरे हुए बच्चे कितने समय से फ्रीजर में रखे हुए थे।

थाईलैंड के डिपार्टमेंट ऑफ नेशनल पार्क्स के एडिसोर्न नुचडेमरोंग ने कहा कि बाघ के ये मरे हुए बच्चे ज़रूर किसी मकसद से ही फ्रीजर में रखे गए होंगे लेकिन किस काम के लिए इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। 

बता दें कि बाघ की हड्डियों और शरीर के अन्य हिस्सों का इस्तेमाल चीन की पारंपरिक दवाइयों में होता है। टाइगर टेंपल की ओर से कोई बयान देने के लिए सामने नहीं आया। लेकिन पूर्व में वन्यजीवों की तस्करी के आरोपों से साफ इनकार कर चुके हैं।