'अलगाववादियों के बेटे क्यों नहीं उठाते बंदूक...?'

आसिफ सुहाफ, श्रीनगर (10 जुलाई): आतंक को आइना दिखाने के लिए एक पूर्व अलगाववादी का बेटा सामने आया है। आतंकी बुरहान की मौत और उसके बाद हुई हिंसा में 15 लोगों के मारे जाने के बाद, एक प्रमुख अलगाववादी नेता के बेटे जुनैद कुरैशी ने घाटी के हालिया हालात पर बड़ा सवाल उठाया है। 

जुनैद कुरैशी ने कहा है कि अगर जिहाद इतना ही पवित्र है, तो अलगाववादियों के बच्चे बंदूक क्यों नहीं उठाते। लिबरेशन फ्रेंट के संस्थापक सदस्यों में से एक रहे हाशिम कुरैशी के बेटे जुनैद कुरैशी ने कहा कि कश्मीर का युवा अपनी जिंदगी को खो रहा है।

जुनैद ने यह भी कहा कि कश्मीर में बहुत से लोग और युवा असंतुष्ट हैं। वो गुस्से में हैं वो सही हैं या गलत हैं, यह अलग बात है। हमने देखा है कि जब आप अपने गुस्से को जताने के लिए हिंसक हो जाते हैं, तो उसका नतीजा क्या होता है। अखिरकार बुरहान वानी के साथ भी वही हुआ जो इस रास्ते पर चलने वालों के साथ होता है। 

बुरहान पर जुनैद ने कहा कि आखिरकार बुरहान वानी के साथ भी वही हुआ, जो इस रास्ते पर चलने वालों के साथ होता है। कश्मीरी युवकों का इस तरह मरना अफसोसजनक है। ऐसे में कश्मीरी युवाओं को यह समझना होगा कि बंदक के रास्ते हम अपनी मंजिल हासिल नहीं कर सकते हैं। हमने 26 साल पहले बंगूक उठाई थी, हमने क्या हासिल किया? लोगों की मौत हुई, अब यह हिंसा खत्म होनी चाहिए।  

देखिए न्यूज़24 की रिपोर्ट...

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=afjOi-mGYrQ[/embed]