Blog single photo

करतारपुर कॉरिडोर को विकसित करने के फैसले का पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने किया स्वागत

देश के पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने पंजाब के गुरदासपुर जिले को पाकिस्तान के करतारपुर के ऐतिहासिक गुरुद्वारे दरबार साहिब से जोड़ने के लिये करतारपुर गलियारा बनाए जाने के फैसले का स्वागत किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस गलियारे के दोनों देशों के लोगों के बीच पुल का काम करने संबंधी बयान के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने चेताया कि इस लक्ष्य को हासिल किये जाने से पहले अभी कई बाधाओं को पार करना है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 नवंबर): देश के पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने पंजाब के गुरदासपुर जिले को पाकिस्तान के करतारपुर के ऐतिहासिक गुरुद्वारे दरबार साहिब से जोड़ने के लिये करतारपुर गलियारा बनाए जाने के फैसले का स्वागत किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस गलियारे के दोनों देशों के लोगों के बीच पुल का काम करने संबंधी बयान के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने चेताया कि इस लक्ष्य को हासिल किये जाने से पहले अभी कई बाधाओं को पार करना है। 

प्रणब मुखर्जी फाउंडेशन द्वारा आयोजित 'टूवार्ड्स पीस, हारमोनी एंड हैप्पीनेस : ट्रांजिशन टू ट्रांसफॉर्मेशन' शीर्षक वाले एक सम्मेलन से इतर उन्होंने संवाददाताओं को बताया, 'इसमें कई बाधाएं हैं और इन अड़चनों की अनदेखी नहीं करनी चाहिए। लेकिन कोई भी शुरुआत अच्छी शुरुआत होती है, मुझे उम्मीद है यह सफल होगी।' सिंह ने हालांकि यह नहीं बताया कि वह किन अड़चनों के बारे में सोच रहे हैं। 

पहले सिख गुरु गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व पर शुक्रवार को मादी ने कहा, 'क्या किसी ने कभी सोचा था कि बर्लिन की दीवार गिरेगी? हो सकता है गुरु नानक देवजी के आशीर्वाद से करतारपुर गलियारा सिर्फ गलियारा न रहे बल्कि दोनों देशों के लोगों के बीच पुल की तरह काम करे।'

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को उम्मीद जतायी थी कि करतारपुर गलियारा भारत और पाकिस्तान के लोगों के बीच एक सेतु का काम करेगा । प्रधानमंत्री ने बर्लिन की दीवार के गिरने का हवाला देते हुए 'लोगों से लोगों के संपर्क' के महत्व को रेखांकित किया और कहा कि यह गलियारा बेहतर भविष्य की ओर जायेगा।

सिखों के पहले गुरु, गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व के अवसर पर प्रधानमंत्री ने विभाजन का जिक्र करते हुए कहा, '1947 में जो हुआ सो हुआ। दोनों देशों की सरकारों और सेनाओं के बीच मुद्दे बने रहेंगे और सिर्फ समय ही हमें इससे बाहर निकलने का मार्ग दिखायेगा।'

Tags :

NEXT STORY
Top