'डोकलाम में भारत पीछे हटे या कब्जा कर ले, हमला हुआ तो मरेगा'

नई दिल्ली(20 जुलाई): सीमा पर जारी तनाव के बीच चीन के पूर्व डिप्लोमैट लियु योउफा ने कहा है कि भारत के पास अब सिर्फ तीन विकल्प बचे हैं। पहला ये है कि भारत डोकलाम से पीछे हट जाए, कब्जा कर ले या फिर चीन हमला कर दे।

- बता दें लियु योउफा मुंबई में चीन के पूर्व कांसुल जनरल रह चुके हैं। 

- सिक्किम सेक्टर के डोकलाम इलाके में 34 दिन से भारत और चीन की सैनिक टुकड़ी आमने-सामने है। ये इलाका एक ट्राई जंक्शन (तीन देशों की सीमाएं मिलने वाली जगह) है। चीन यहां सड़क बनाना चाहता है, लेकिन भारत और भूटान इसका विरोध कर रहे हैं।

- लियु योउफा ने सरकारी चैनल चाइना सेंट्रल टेलीविजन से बातचीत में बुधवार को यह कमेंट किया। लियु अब रणनीतिक मामलों के एक्सपर्ट हैं। 

- उन्होंने कहा, "जब सैनिक बॉर्डर पार करते हैं, दूसरे देश की सीमा में चले जाते हैं तो वे दुश्मन होते हैं, इसके 3 नतीजे होते हैं। वे अपनी मर्जी से पीछे हट जाएं या वे कब्जा कर सकते हैं। नहीं तो विवाद बढ़ने पर वे मारे भी जा सकते हैं। यही 3 स्थितियां होती हैं।"
 

- लियु योउफा ने कहा, "चीनी पक्ष को इसका इंतजार है कि भारत डोकलाम विवाद पर अक्लमंदी से काम लेते हुए कदम उठाएगा, मौजूदा हालात से यही लग रहा है। टकराव से बचने के लिए दोनों पक्षों के लिए यही सबसे अच्छा होगा।"

- बता दें कि डोकलाम विवाद पर चीन सरकार ने यह साफ कर दिया है कि इस मामले के डिप्लोमैटिक हल की कोई गुंजाइश नहीं है और भारतीय सैनिकों के पीछे हटने की पूर्व शर्त बरकरार है।