अमेरिका में फर्ज़ी वीज़ा घोटाले का पर्दाफाश, गैंग में 10 भारतीय भी शामिल

नई दिल्ली (6 अप्रैल):  एजूकेशन के नाम पर अमेरिकी सुरक्षा के साथ हो रहे बड़े  खिलबाड़ का पर्दाफाश हुआ है।  होमलैण्ड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट ने एक स्टिंग ऑपरेशन के जरिए एक ऐसी  फर्ज़ी यूनिवर्सिटी चलाने वालों का भाण्डाफोड़ किया है जो विदेशियों से मोटी रकम लेकर अमेरिकी वीजा दिलवाते थे।  इस स्टिंग में फंसे कुछ भारतीयों को भी गिरफ्तार किया है। इसके अलावा इस फर्जी यूनिवर्सिटी में एडमीशन के नाम पर स्टूडेंट वीसा लेकर अमेरिका पहुंचे एक हज़ार से ज्यादा भारतीय और चीनी छात्रों को होमलैण्ड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट ने अमेरिका से निष्कासित कर दिया है।

होमलैण्ड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने यूएनएनजे (यूनिवर्सिटी ऑफ नॉरदर्न न्यू जर्सी) नाम से फर्जी यूनिवर्सिटी चलाने वाले गैंग का पर्दाफाश करने के लिए स्टेट डिपार्टमेंट, एफबीआई, इमिग्रेशन, कस्टम और एजुकेशन डिपार्टमेंट के अधिकारियों की एक संयुक्त टीम बनायी थी। होमलैण्ड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट के मुताबिक यूएनएनजे में एडमीशन के नाम पर अमेरिका आने वाले सभी लोगों को मालूम था कि यह एक फर्जी यूनिवर्सिटी है। सभी ने अच्छा खासा पैसा देकर विभिन्न कोर्स और क्लासेज के फर्जी सर्टिफिकेट भी हासिल किये थे।

ये फर्ज़ी यूनिवर्सिटी सितंबर 2013 से काम कर रही थी। इन्हीं फर्जी सर्टिफिकेट के नाम पर कुछ लोगों अमेरिका में वर्क परमिट हासिल किया और फिर एच-1बी वीज़ा भी हासिल कर लिया था। होमलैण्ड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट के मुताबिक फर्जी यूनिवर्सिटी के सर्टिफिकेट के सहारे अमेरिका में रहने वाले 1076 चीनी और भारतीय नागरिकों को निष्कासित कर दिया गया है।