लालू की सेवा के लिए जेल पहुंचे उनके दो 'सेवक', किया ये 'जुगाड़'

रांची (9 जनवरी): चारा घोटाले के एक केस में लालू यादव रांची के बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में पिछले 23 दिसंबर से बंद हैं। रांची की विशेष सीबीआई कोर्ट ने उन्हें 6 जनवरी को साढ़े 3 साल की सजा और 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था। खबर है कि लालू यादव की सेवा के लिए दो सेवक फर्जी केस बनाकर जेल पहुंच गए हैं। इनका नाम मदन और लक्ष्मण है, जिन्होंने जेल जाने के लिए फर्जी मारपीट का मामला बनाया है। लक्ष्मण लालू का पुराना रसोइया है।

जानकारी के मुताबिक, मदन ने पड़ोसी सुमित यादव को तैयार किया। उसने मदन लक्ष्मण पर मारपीट कर 10 हजार रुपये लूटने का आरोप लगाते हुए डोरंडा थाने में शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद दोनों ने सरेंडर कर दिया। दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 341, 323, 504, 379, 34 के तहत केस दर्ज किया गया है।

इस शिकायती पत्र में लक्ष्मण और मदन का पता गंगा खटाल हीनू, न्यू साकेत नगर, रांची दिया गया है। बताया जा रहा है कि दोनों रांची में दूध का कारोबार करते हैं। लालू के बहुत पुराने परिचित हैं। लालू यादव जब भी रांची आते हैं, तो दोनों उनके साथ ही रहते हैं। लक्ष्मण लालू यादव के लिए खाना बनाता है, तो मदन उनकी सेवा करता है।