अब 500 के नए नोट ज्यादा छापेगी सरकार

नई दिल्ली (15 दिसंबर): नोटबंदी के बाद कैश की किल्लत को कम करने के लिए केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने प्रेस कांफ्रेंस करके कहा है कि अब हमारा ध्यान ज्यादा से ज्यादा 500 के नोट प्रिंट करने पर है।

शक्तिकांत दास ने कहा कि 2000 रुपये के नोट के छुट्टे नहीं मिलने के बाद लोगों को आ रही परेशानी को देखते हुए 500 रुपये के नोटों को ज्यादा मात्रा में छापा जाएगा। इसी के साथ उन्होंने कहा कि 2000 रुपये के नए नोट काफी कम हैं।

इसी के साथ शक्तिकांत दास ने बताया कि पहली बार नए नोटों का डिजाइन, सुरक्षा मानक और दूसरे अन्य फीचर सभी देश में कराए गए हैं। वहीं इनकी छपाई भी देश में ही की जा रही है। 2000 के नोट को छापने का मकसद मार्किट में जल्द ही बड़ी तादाद में पैसा लाना था।

- जब्त किए गए नए नोट मार्केट में भेजे जा रहे हैं।

- कड़ी निगरानी की वजह से नोट पकड़े जा रहे है।

- 100 रुपये के 80 हजार करोड़ नए नोट जारी किए गए हैं।

- 2 से 3 सप्ताह के बीच कैश सप्लाई में तेजी आएगी।

- 50 और 20 के नोटों की भी छपाई हो रही है।

- अब हमारा ध्यान ज्यादा से ज्यादा 500 के नोट प्रिंट करने पर है।

- को-ऑपरेटिव बैकों में कैश पहुंचाने में तेजी लाई गई है।

- नोट पहुंचाने के लिए विमान का इस्तेमाल किया जा रहा है।

- नए नोटों को देश में तैयार किया गया है।