सड़कों के ट्रैफिक को खत्म करने के लिए चलेंगी फ्लाइंग वाटर टैक्सी

नई दिल्ली ( 14 जनवरी ): सड़कों से ट्रैफिक कम करने के लिए अब फ्लाइंग वाटर टैक्सी का इस्तेमाल किया जाएगा। लंदन की टेम्स में नदी की धारा से चलने वाली फ्लाइंग वॉटर टैक्सी का इस साल के अंत में टेस्ट किया जा सकता है। इन बोट्स को सीबबल कहते हैं और इन्हें हाइड्रोफॉइल्स के जरिए पानी से ऊपर उठाया जाता है। इसके कारण इनकी स्पीड 25 नॉट्स तक पहुंच जाती है और इनका सफर इतना आरामदायक होता है जैसे 'जादुई कालीन' पर उड़ रहे हों।

यह बोट्स विशेष तरह से बनाए गए डॉक के साथ आती हैं जिसके नीचे पानी में कई टरबाइन होते हैं। इसके पीछे विचार ये है कि इन टरबाइन और सोलर पैनलों के जरिए बोट्स को ऊर्जा पहुंचाई जाए। इस तरह इन बोट्स को अन्य किसी बाहरी ऊर्जा स्रोत या ईंधन की जरूरत नहीं होगी।

इन गर्मियों में पैरिस में सेन नदी में ऐसी पांच सीबबल बोट्स का ट्रायल शुरू हो सकता है। इन बोट्स को बनाने वाली कंपनी को अमेरिका और लंदन मेयर के ऑफिस में भी वार्ताओं के लिए बुलाया जा चुका है।

 

हाइड्रोफॉइल्स की वजह से सीबबल को परम्परागत बोट्स के मुकाबले कम ऊर्जा की जरूरत पड़ती है। यह पानी को पुश करने की जगह काटती है जिसके कारण यह कोई लहर नहीं बनाती और इससे पानी का 40 पर्सेंट तक कम दबाव लगता है। इसके साथ ही, डॉक में लगे टरबाइन और सोलर पैनल के जरिए ही बोट्स की उर्जा जरूरतों को पूरा कर लिया जाता है।'