नई दिल्ली (20 अगस्त): बारिश के बाद आई बाढ़ ने देश के कई हिस्सों में भयावक स्थिति पैदा हो गई है। मध्य प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ से हालात बेकाबू है तो यूपी और बिहार में भी स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हालात की समीक्षा की और बचाव कार्य के लिए हेलिकॉप्टर तैयार रखने के निर्देश भी दिए।

मध्य प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ से हालात बेकाबू है। पिछले 24 घंटों में 15 लोगों की मौत हो गई है। सीएम ने मदद के लिए चार-चार लाख रुपये का ऐलान किया है।

रीवा में बाढ़ से ऐसे हालात हो गए हैं कि लोगों को लोगों को निकालने के लिए सेना की मदद ली जा रही है। रीवा संभाग में बाढ़ के मद्देनजर सरकार ने सेना से मदद मांगी थी।

वहीं सतना जिले में भी बाढ़ जैसे हालात है। बाढ़ का पानी रिहायशी इलाकों में घुस गया है, जिससे हालात और बेकाबू हो गए हैं।

सागर जिले के राहतगढ़ में आज सुबह एक इमारत गिरने से 7 लोगों की मौत हो गयी जबकि तीन लोग इस घटना में घायल हो गए हैं।

रेस्क्यू ऑपरेशन के जरिए सतना में 4215 लोगों को बचाया गया है जबकि रीवा में 1550 लोगों को बचाया गया है।

उत्तर प्रदेश में उफनाई नदियों से हाहाकार मचा हुआ है। गंगा, यमुना, राप्ती, घाघरा और केन नदियों ने प्रदेश के कई जिलों में कोहराम मचा रखा है।

अब तक राज्य के सैकड़ों गांव बाढ़ के पानी से जलमग्न हो गए हैं।

सैंकड़ों घर नदियों में समा चुके हैं। गंगा और यमुना लगभग हर जगह खतरे के निशान के आस-पास है।

बिहार में गंगा नदी के जल स्तर में वृद्धि होने के कारण पटना, बक्सर, भोजपुर, मुंगेर, सारण, वैशाली एवं भागलपुर जिला के दियारा क्षेत्र में पानी प्रवेश कर जाने की सूचना प्राप्त हुई है।

आपदा प्रबंधन विभाग से आज प्राप्त जानकारी के मुताबिक गंगा नदी के जल स्तर में वृद्धि होने के कारण पटना, बक्सर, भोजपुर, मुंगेर, सारण, वैशाली एवं भागलपुर जिला के दियारा :नदी के किनारे वाले इलाके: क्षेत्र में पानी प्रवेश कर जाने की सूचना प्राप्त हुई है।