आधे हिंदुस्तान में बारिश और बाढ़ से मचा कोहराम!

नई दिल्ली (3 अगस्त): आधे हिंदुस्तान में बारिश और बाढ़ से कोहराम मचा है, महाराष्ट्र, राजस्थान और उत्तराखंड के कई इलाकों में 24 घंटे से हो रही बारिश से हालात बदतर हो गए है। गुजरात में वलसाड से 10 लोगों के इंडियन कोस्ट गार्ड के हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू किया है। बाढ़ से हिंदुस्तान कराह रहा है। सैलाब के सितम से लोग परेशान हैं। ना रहने को घर है, ना पीने को पानी। बाजार से लेकर घर तक जिधर देखो उधर पानी ही पानी।

लगातार हो रही बारिश से आधा हिदुस्तान पानी में डूब गया है, ऐसा वाटर अटैक हुआ जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। ये तस्वीरें महाराष्ट्र के रायगढ़ की है। रायगढ़ इलाके में पिछले तीन दिनों से हो रही बारिश से सावित्री नदी में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं। बाढ़ का पानी महाड शहर में घुस गया है।

हालात इतने बदतर हो गए हैं, बच्चों के स्कूल बंद हैं, बाजार बंद हैं। सड़क से लेकर कॉलोनी तक पानी में डुबे हुए हैं। रोजमर्रा के काम के लिए लोगों को पानी में जाने के लिए मजबूर हैं। घुटनों से लेकर कमर तक पानी भरा है।

रायगढ़ जिले में सावित्री नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है। रायगढ़ जिले में पिछले 24 घंटों की बारिश ने इसबार  सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। महाराष्ट्र के नासिक में भी तबाही ने दस्तक दे दी है। लगातार तीन दिनों से हो रही बारिश के चलते यहां के कई इलाके जलमग्न हो गए। गोदावरी नदी में बाढ़ आ गई  और नदी का जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर हो गया। 

पूरी गोदावरी नदी शहर में आ गई है , गंगापुर बांध से पानी छोड़े जाने से भी नदी का जल स्तर बढ़ गया है। इससे पुराने नासिक में कई पुलों और सड़कों के ऊपर पानी बह रहा है। नदी के किनारे मौजूद कई प्राचीन मंदिरें पानी में पूरी तरह डूब चुके हैं। प्रशासन ने स्कूलों और कॉलेजों में दो दिन की छुट्टी घोषित कर दी है। हालात से निपटने के लिए सेना के 300 जवानों को मदद के लिए बुलाया गय़ा है।    मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे जिले में भारी बारिश की तरफ इशारा किया है। प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है चेतावनी दी है कि अगर बारिश ऐसे ही होती रही तो बाढ़ के हालात और भी बदतर हो सकते हैं।