बिहार में बाढ़ से 153 की मौत, पूर्वी उ.प्र. में सेना बुलाई गयी

नई दिल्ली (19 अगस्त): बिहार के 17 जिलों में बाढ़ की विभीषिका और विकराल हो गयी है। अब तक 153 लोग बाढ़ का शिकार हो चुके हैं। नेपाल में लगातरा हो रही बारिश के कारण नेपाल से लगी उत्तरप्रदेश की सीमा में स्थिति काफी खराब हो चुकी है। उत्तर प्रदेश के इन इलाकों में सेना को तैनात कर दिया गया है।बिहार के आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के 17 जिलों के 156 प्रखंडों की 1.08 करोड़ से ज्यादा की आबादी बाढ़ से प्रभावित है। उन्होंने कहा कि बाढ़ की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। बाढ़ से मरने वालों की संख्या 119 से बढ़कर शुक्रवार को 153 तक पहुंच गई। अररिया में सबसे ज्यादा 30 लोगों की मौत हुई है, जबकि किशनगंज में 11, पूर्णिया में नौ, कटिहार में सात, पूर्वी चंपारण में 11, पश्चिमी चंपारण में 23, दरभंगा में चार, मधुबनी में आठ, सीतामढ़ी में 13, शिवहर में तीन, सुपौल में 11, मधेपुरा में नौ, गोपालगंज व सहरसा में चार-चार, मुजफ्फरपुर में एक, खगड़िया में तीन तथा सारण में दो व्यक्ति की मौत हुई है।