प्रीमियम रेलगाड़ियों में फ्लेक्सी फेयर में होगा बदलाव, यात्रियों को होगा फायदा

नई दिल्ली(5 मार्च): रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी ने प्रीमियम रेलगाड़ियों में फ्लेक्सी फेयर सिस्टम में बदलाव के संकेत देते हुए कहा कि इसमें कुछ सुधार होगा जिससे यात्रियों और रेलवे दोनों को फायदा होगा।

-  लोहानी ने कहा कि फ्लेक्सी किराया ढांचा एयरलाइन जैसे प्रतिद्वंद्वी परिवहन क्षेत्र में तो काम करता है जहां निजी ऑपरेटर यात्रियों की संख्या बढ़ाने के लिए प्रतिद्वंद्विता करते हैं। 

- रेल बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि लेकिन जब रेलगाड़ियों की बात आती है तो रेलवे एकमात्र यात्री परिवहन सेवा संचालक है और फ्लेक्सी फेयर प्रणाली यात्रियों के लिए उचित नहीं होगा।

- लोहानी ने कहा, ‘‘कुछ क्षेत्रों में कुछ सुधार होगा जो यात्रियों और रेलवे दोनों के लिए लाभदायक होगा।’’

- इससे पहले रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष लोहानी ने रेल अधिकारियों से कहा था कि वे बेहतर नतीजे, कमाई बढ़ाने और बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए लीक से हट कर सोचें। उन्होंने बीते 26 फरवरी को भारतीय रेल के वरिष्ठ अधिकारियों को लिखे पत्र में यह कहा था।

- लोहानी ने कहा था कि हर एक गतिविधि के लिए नियमों और प्रक्रियाओं की बहुलता वाली स्थिति को बदलने की जरूरत है ताकि सेवा में सुधार किया जा सके। उन्होंने कहा कि सेवा मुहैया कराने के रास्ते में बेवजह की बाधाएं आड़े नहीं आनी चाहिए। 

- लोहानी ने कहा कि चीजों को दुरूस्त करने की जरूरत है और अधिकारियों को चाहिए कि वे ऐसे निर्णय करें जो बेहतर नतीजे, कमाई बढ़ाने, कार्यबल को संतुष्ट करने और बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए हों।