टेनिस में भी फिक्सिंग, डुकोविक मिला था 2लाख डॉलर का ऑफर

नई दिल्ली (18 जनवरी): मैच फिक्सिंग तो टेनिस में भी होती है, लेकिन बदनाम केवल क्रिकेट है। टेनिस में फिक्सिंग का पर्दाफाश 'बज़फीड' की एक रिपोर्ट मे किया गया है। रिपोर्ट में टेनिस प्लेयर नोवाक डुकोविक के हवाले से लिखा है कि सन 2007 में पीटर्सबर्ग में होने वाले टूर्नामेंट से पहले एक शख्स ने उनसे मिलने की कोशिश की थी। उसने कहा था कि अगर वो टूर्नामेंट के पहले ही मैच में हार जायें तो उन्हें दो लाख डॉलर मिल सकते हैं।

नोवार्क के अस खुलासे के बाद टेनिस जगत में बवाल मचा हुआ है। बज़फीड न्यूज और बीबीसा ने टेनिस में मैच फिक्सिंग को लेकर एक सुबूतों की बडी़ फाइल होने का दावा भी किया है। कहा गया है कि वर्ल्ड रैंकिंग में टॉप 50 में आने वाले टेनिस प्लेयर्स में 16 खिलाड़ियों का एक कोर ग्रुप है जो फिक्सिंग के शक के घेरे में रहे हैं, लेकिन टेनिस अथॉरिटी ने कभी भी उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। इसलिए टेनिस अथॉरिटी पर भी संदेह उभरता है। ब्रिटेन के स्पोर्ट्स सेक्रेटरी ने कहा है कि टेनिस में फिक्सिंग के आरोप गंभीर हैं। इनकी जांच होनी चाहिए।