पाकिस्तान में पहली बार सिख क्रिकेटर को मिला बड़ा मौका

नई दिल्ली(21 दिसंबर): पहली बार पाकिस्तान में एक सिख को नैशनल अकैडमी में प्रवेश मिला है। जियो न्यूज के अनुसार, ननकाना साहिब के रहने वाले महिंदर पाल सिंह देश के 30 उदीयमान क्रिकेटरों की सूची में शामिल हैं।

- पाकिस्तानी टीम में ईसाई और हिंदुओं को जगह मिली है, लेकिन पहली बार एक पाकिस्तानी सिख अकैडमी में जगह पाने में कामयाब रहा है।

- सोशल मीडिया पर जारी विडियो में सिंह ने अपने कोच और पीसीबी के पूर्व अध्यक्ष शहरयार खान को धन्यवाद दिया। बतादें, पाकिस्तान के क्रिकेट इतिहास में केवल 7 गैर मुस्लिम खिलाड़ियों को देश के प्रतिनिधित्व का मौका मिला है। महिंदर इस सूची में आठवें खिलाड़ी हैं और सिख समुदाय से पहले व्यक्ति हैं।

- हाल के सालों में कुछ गैर मुस्लिम खिलाड़ियों को पाकिस्तान की ओर से खेलने का मौका मिला है। हिंदू खिलाड़ी दानिश कनेरिया पाकिस्तान के कामयाब स्पिनर रहे हैं। हालांकि, कई बार यह भी आरोप लगा कि गैरमुस्लिम होने की वजह से उन्हें टीम में भेदभाव का सामना करना पड़ा। पूर्व पाकिस्तानी विकेट कीपर अनिल दलपत को लेकर भी ऐसी बातें हुईं थीं। क्रिश्चियन खिलाड़ी यूसुफ योहाना ने बाद में इस्लाम अपना लिया था और वह मो. यूसुफ बन गए।