RSS के न्यौते पर बोले पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, कहा- जो कहूंगा, नागपुर में कहूंगा

नई दिल्ली (02 जून): नागपुर में आरएसएस के होने वाले संघ शिक्षा वर्ग के समापन समारोह के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर मिले निमंत्रण पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शनिवार को पहली बार प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें जो भी बोलना है, वह उसे नागपुर में बोलेंगे।पूर्व राष्ट्रपति ने बताया कि इस दौरान उनके पास कई लोगों के फोन आए, चिट्ठियां आईं, लेकिन उन्होंने किसी को जवाब नहीं दिया। अब वह सीधे नागपुर में ही अपनी बात रखेंगे। पूर्व राष्ट्रपति ने एक बांग्ला दैनिक से बातचीत में यह बात कही है।आपको बता दें कि प्रणब मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में जाने के फैसले के बाद कांग्रेस के एक धड़े में विरोध के स्वर उठने लगे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सी. के. जाफर ने मुखर्जी को एक लेटर लिखकर उनसे यह दौरा रद्द करने की मांग की थी। दुख और निराशा जाहिर करते हुए जाफर ने कहा, 'मैं यह समझने में असमर्थ हूं कि इसके लिए क्या मजबूरी है।'