निजी रूप से बना पहला रॉकेट 2021 तक होगा लॉन्च: इसरो

नई दिल्ली(21 नवंबर): अपने प्रक्षेपण वाहन कार्यक्रम को आउटसोर्स करने की दिशा में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने एक और कदम बढ़ाया है। इसरो कंपनियों के एक संघ के साथ संयुक्त उद्यम की योजना बना रही है। इसका मकसद अंतरिक्ष रॉकेट बनाने का है। 

- इसरो चेयरमैन ए.एस.किरण कुमार ने कहा कि हमारा लक्ष्य 2021 तक इसको लॉन्च करना है। इसरो जेवी का हिस्सा होगी। इसपर काम चल रहा है। अब तक इसरो ही पीएसएलवी का उत्पादक रहा है। पिछले 20 साल में पीएसएलवी के लॉन्च होने के बाद इसरो ने लगातार 39 मिशन सफलतापूवर्क लॉन्च किए हैं।