पहला पाकिस्तानी सिख रेंजर बीटिंग रिट्रीट में हुआ शामिल

 

नई दिल्ली (8 जनवरी): वाघा बॉर्डर पर हर शाम होने वाली बीटिंग द रिट्रीट सेरेमनी के लिए पाकिस्तान रेंजर्स की तरफ से एक सिख सैनिक भी शामिल हुआ। बीती शाम पाकिस्तान की तरफ से सिख सैनिक मार्च करता हुआ आया तो दोनों तरफ के लोगों ने जोरदार तालियों से उसका स्वागत किया। इस पाकिस्तानी रेंजर का नाम अमरजीत सिंह है। वह ननकाना साहिब का रहने वाला है।

अमरजीत ने इसी साल ट्रेनिंग पूरी की है। वैसे तो पाकिस्तानी आर्मी में हिंदुओं को शामिल करने से परहेज किया जाता है लेकिन सरदार हरचरण सिंह पहले पाकिस्तानी सैनिक हैं। वो भी ननकाना साहिब के ही रहने वाले हैं और वर्ष 2005 में उन्होंने इंटर सर्विस सेलेक्शन बोर्ड की परीक्षा पास कर पाकिस्तान आर्मी जॉइन की थी। पाकिस्तानी आर्मी में हिंदुओ के साथ भेदभाव की घटनाएँ आम बात हैं। वजीरिस्तान में वर्ष 2013 में एक हिंदू सैनिक अशोक कुमार ने पाकिस्तानी आर्मी की तरफ से लड़ते हुए जान गंवाई थी, लेकिन पाकिस्तानी आर्मी ने उन्हें शहीद का दर्जा सिर्फ इसलिए नहीं दिया था क्यों कि वो एक हिंदु थे।