रचा इतिहास, भारत ने विकसित किया कुष्ठ रोग का टीका

नई दिल्ली (21 अगस्त): भारत ने कुष्ठ रोग के छुटकारा पाने के लिए दुनिया का पहला टीका विकसित किया गया है। इसे आने वाले कुछ ही हफ्तों में बिहार और गुजरात के 5 जिलों में उपलब्ध कराया जाएगा।

खबर के मुताबिक भारत में हर साल करीब 1.25 लाख लोग कुष्ठ रोग का शिकार होते हैं, लेकिन टीके की मदद से अब इसे काफी हद तक कम किया जा सकेगा। यह टीका नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इम्यूनोलॉजी के संस्थापक व निदेशक जीपी तलवार द्वारा विकसित किया गया है। कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया और अमेरिका की एफडीए ने भी इसे मंजूरी दे दी है।

कुष्ठ रोगियों के संपर्क में रहने वाले भी इस गंभीर बीमारी से संक्रमित हो जाते हैं। यह टीका उनके लिए भी कारगर साबित होने की उम्मीद है। परीक्षण में पाया गया है कि अगर कुष्ठ रोगियों के संपर्क में रहने वाले लोगों को यह टीका दिया जाए, तो 3 साल के अंदर ही कुष्ठ मामलों में 60 फीसद कमी लाई जा सकती है। इस टीके की शुरुआती जांच में अगर संतोषजनक नतीजे आते हैं, तो देशभर के बाकी कुष्ठ प्रभावित इलाकों में भी इसे मरीजों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।