राष्ट्रपति बनते ही ट्रंप ने ओबामा के इस पॉलिसी के खिलाफ किया हस्ताक्षर


नई दिल्ली(21 जनवरी): राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के घंटे भर के भीतर ही डॉनल्ड ट्रंप ने ओबामाकेयर कानून को कम करने और चुनावी वादे को पूरा करने के लिए एग्जिक्युटिव ऑर्डर पर हस्ताक्षर कर दिये।


- ट्रंप ने चुनाव में ओबामाकेयर योजना को कम करने का वादा किया था, जिसके लिए उन्होंने ऑर्डर पर हस्ताक्षर कर ओबामा की शुरू की गई सस्ती स्वास्थ्य सेवा का भार कम करने का आदेश दिया। ट्रंप के हस्ताक्षर करने से कानून में ज्यादा परिवर्तन तो नहीं होगा, लेकिन थोड़ा प्रभाव जरूर पड़ेगा।


- वाइट हाउस ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि संघीय एजेंसियों और विभागों को एक मेमोरेंडम भी भेजकर इन नियमों पर तत्काल रोक लगाने को कहा गया है। वाइट हाउस के ओवल ऑफिस में पहले सरकारी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने के बाद ट्रम्प ने वहां मौजूद संवाददाताओं से कहा, 'बहुत व्यस्तता रही, लेकिन अच्छा रहा। एक शानदार दिन।' राष्ट्रपति बराक ओबामा की महत्वाकांक्षी सस्ती स्वास्थ्य सेवा योजना (अफॉर्डेबल केयर ऐक्ट) से संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने के बाद ट्रम्प ने सरकारी विभागों और एजेंसियों को निर्देश दिया कि वे योजना के आर्थिक प्रभाव में कमी करें।


-रिपब्लिकन हमेशा से इस हेल्थकेयर लॉ के खिलाफ रहे हैं। वे ओबामाकेयर की जगह कोई दूसरा कानून लाने की बात करते रहे हैं। प्रेजिडेंशल कैंपेन के दौरान ट्रंप ने अपने समर्थकों से वादा किया था कि राष्ट्रपति बनते ही वह इस कानून में संशोधन करेंगे। पिछले कुछ वर्षों में इस कानून को वापस लेने के प्रस्ताव पर सदन में 60 से ज्यादा बार मतदान हो चुके हैं, लेकिन ओबामा द्वारा विधेयक पर हस्ताक्षर नहीं करने के चलते इसे वापस नहीं लिया जा सका।


-इसके अलावा ट्रंप के शपथ ग्रहण करने के कुछ ही देर बाद वाइट हाउस की वेबसाइट पर अपडेट किया गया कि नया प्रशासन 'क्लाइमेट ऐक्शन प्लान' को भी खत्म कर देगा। इसे भी पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के प्रशासन के प्रमुख कदमों के भी गिना जाना है, जिसका उद्देश्य बिजली संयंत्रों से कार्बन उत्सर्जन रोकना है।