कर्मचारी हो या ड्राइवर, चेक से दें सैलरी और टैक्स में पाएं छूट

नई दिल्ली(3 फरवरी): कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक सरकार ने बिजनेसमैन और पेशेवर लोगों से कहा है कि वे अपने ड्राइवर, सेल्ममैन और ऑफिस ब्वॉय जैसे कर्मचारियों की सैलरी और बकाए राशि का पेमेंट चेक से या ऑनलाइन करें।

-सरकार उन लेन-देन पर लगाम लगाना चाहती है जिनका कोई रिकॉर्ड नहीं होता है। सरकार का लक्ष्य है कि लोग कैश का इस्तेमाल कम से कम करें और बेहिसाब धन पर लगाम लगाया जा सके।-

- आम तौर पर ड्राइवर या ऑफिस ब्वॉय की सैलरी 10 से 15 हजार के बीच होती है और इसका भुगतान कैश में किया जाता है। टैक्स डिपार्टमेंट के एक अधिकारी ने कहा कि हम इस तरह के लेन-देन चेक या डिजिटल तरीके से भुगतान किए जाने पर जोर दे रहे हैं। अगर कोई शख्स इस तरह के लेन देन को टैक्स एक्सपेंस में दिखाता है तो उसे भुगतान के लिए डिडिटल माध्यम का इस्तेमाल करना चाहिए।

-सरकार ने कहा है कि 10 हजार या उससे अधिक के भुगतान चेक या बैंक ट्रांस्फर के जरिए किया जाए। ताकि इन पैसों को ट्रैक किया जा सके। हालांकि यह नियम सिर्फ कंपनियों और व्यवसायियों के लिए है, यह किसी व्यक्ति पर लागू नहीं होता है।