'पत्थर के पास आग जलाने से मिलते हैं इंटरनेट के सिगनल'

नई दिल्ली (15 फरवरी): जर्मनी के आउटडोर स्कल्पचर्स का म्यूजियम न्यूएनकिर्चेन में एक ऐसा पत्थर जिसके पास आग जलाने से इंटरनेट के वाईफाई सिगनल मिलने शुरु हो जाते हैं। दरअसल, पत्थर के भीतर एक थर्मोइलेक्ट्रिक जेनरेटर लगाया गया है तो गर्मी को बिजली में बदल देता है। बिजली मिलते ही वाई-फाई राउटर ऑन हो जाता है और इंटरनेट सिगनल  शुरु हो जाते हैं।

 पत्थर का वजन करीब 1.5 टन है और इस आर्टवर्क को कीप एलाइव नाम दिया गया है। इसे एरम बर्थोल नाम के शख्स ने बनाया है। वाईफाई जेनरेटर की फोटो सोशल साइट पर काफी शेयर की जा रही है और कई लोग इसे अनोखा बता रहे हैं। यहां आने वाले विजिटर्स को खुद आग लगाकर वाईफाई सिग्नल जेनरेट करने को कहा जाता है।