रोहिंग्या शरणार्थी कैंप में लगी भीषण आग, 47 परिवार बेघर

नई दिल्ली ( 16 अप्रैल ): राजधानी दिल्ली के कालिंदी कुंज इलाके में स्थित रोहिंग्या मुसलमानों के कैंप में रविवार को भीषण आग लग गई। इस भीषण आग में सबकुछ खाक हो गया। न सिर्फ पूरा कैंप बल्कि हर कागज और दस्तावेज भी जलकर राख हो गए। सूचना मिलने के बाद दमकल की 11 गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और आग पर काबू पाया।

रविवार को लगी आग से करीब 230 रोहिंग्या प्रभावित ए हैं। हादसे में कैंप के पास गैराज में सो रहा एक युवक भी मामूली रूप से झुलस गया, जिसे पुलिस ने नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया। अग्निशमन विभाग के अधिकारियों के अनुसार आग तड़के करीब 3 बजे लगी और सुबह सात बजे से पहले इसपर काबू पा लिया गया। 

बताया जा रहा है कि यहां करीब 47 परिवार रह रहे थे और सबसे पहले एक टॉइलट से भड़की आग ने तेजी से पूरे कैंप को अपनी चपेट में ले लिया। ज्यादातर कैंप प्लास्टिक शीट्स के थे और सुबह का वक्त होने के चलते लोगों को कुछ समझने का मौका ही नहीं मिला। स्थानीय लोगों ने बताया कि केवल बच्चों को जगाने और भागने का वक्त मिला, उतनी देर में आग तेजी से फैल गई। 

कैंप में रहने रहने वालों में करीब 100 महिलाएं और 50 बच्चे हैं। उन्होंने बताया कि सभी के आईडी कार्ड और कागज भी खाक हो गए। करीब पांच साल से ये शरणार्थी कैंप में रह रहे थे। स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंची और आग लगने की वजह को लेकर पूछताछ की।