कोचिंग सेंटर में आग लगने से 20 बच्चों की मौत, घायलों से मिलने पहुंचे विजय रुपाणी

न्यूज 24 ब्यूरो, भूपेंद्र सिंह, सूरत(24 मई): सूरत के सरथाणा इलाके में स्थित तक्षशीला नामक इमारत में शुक्रवार को भीषण आग लग गई। इस दौरान बताया जा रहा है कि इमारत में 50 से ज्यादा बच्चे फंस गए हैं। यह एक कमर्शियल बिल्डिंग है और इसमें मौजूद कोचिंग सेंटर के बच्चे इसके एक फ्लोर पर फंस गए हैं। बच्चे बचने की कोशिश में इमारत से कूद रहे हैं।

 खबर लिखे जाने तक 15 बच्चों की मौत हो चुकी है। दस बच्चों ने जान बचाने के लिए इमारत से छलांग लगा दी। बताया जा रहा है कि आग लगने की सूचना समय पर दे दी गई थी लेकिन फायर ब्रिगेड समय पर नहीं पहुंच सकी। स्‍थानीय लोग भी अब सीढ़ियां लेकर बच्चों को इमारत से निकालने की कोशिश कर रहे हैं। सीएम विजय रुपाणी अस्पताल में घायलों से मिलने पहुंचे, और मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है, जबकि घायलों को इलाज के लिए दिल्ली अस्पताल में भेजेंगे।

राहत और बचाव कार्य में स्थानीय लोगों ने भी दमकलकर्मियों का सहयोग किया. एक दमकल अधिकारी ने कहा कि तीसरी और चौथी मंजिल पर फंसे छात्र खुद को बचाने के लिए बिल्डिंग से कूदने लगे। इनमें से कई को बचाकर अस्पताल भेजा गया है। 

फिलहाल आग पर काबू पाया जा चुका है। लेकिन बिल्डिंग से लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने का काम जारी है। इस घटना पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दुख जताया है। उन्होंने लिखा, सूरत में भीषण आग की घटना से बेहद दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं मरने वालों के परिवारों के साथ हैं। 

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया दी है, उन्होंने कहा, मैं घटना की खबर सुन कर बेहद दुखी हूं, मेरी संवेदनाएं मरने वालों के परिवारों के साथ हैं। मैं जल्द से सभी से ठीक होने की कामना करता हूं।

Embedded video