पाकिस्तान से बढ़ते तनाव के बीच वित्त मंत्री ने रक्षा बजट बढ़ाने के संकेत दिए

नई दिल्ली(28 सितंबर): देश की सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रक्षा बजट बढ़ाने के संकेत दिए हैं। वित्त मंत्री ने कहा, 'दुनिया में हो रहीं सभी घटनाओं का हम पर प्रभाव पड़ता है। हमारी अपनी सुरक्षा चुनौती है। इस चुनौती में एक तरह की अनिश्चितता शामिल है। यह कई राष्ट्रीय संसाधनो को उस दिशा में ले जाती है और इसे हमेशा सबसे अधिक प्राथमिकता मिलेगी।' 

- जेटली ने इस्लामिक स्टेट के खतरे पर भी बात की। उन्होंने कहा, 'आईएस की सक्रियता और इसका खतरा दुनिया के बड़े हिस्से के लिए चुनौती है। दुनिया की अर्थव्यवस्था को इससे अलग नहीं किया जा सकता।' उन्होंने वैश्विक अस्थिरता पर बात करते हुए कहा, 'ब्रेग्जिट इसका प्रमाण है। कई देशों, खासकर अमेरिका में, की बहसों में सुरक्षा का मुद्दा बहुत बड़ा होता जा रहा है।' भारत का रक्षा बजट इस साल बढ़ाकर 2.58 लाख करोड़ कर दिया गया था। 'वन रैंक, वन पेंशन' की स्कीम के चलते सैनिकों को मिलने वाली पेंशन की राशि भी 82 हजार करोड़ कर दी गई थी।