लोकसभा में वित्त विधेयक पास, वित्त मंत्री बोले- चंदे पर कांग्रेस समेत सभी दल दें सुझाव

नई दिल्ली (22 मार्च):  वित्त विधेयक लोकसभा में पास हो गया है। लोकसभा में फाइनेंस बिल पर वोलते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पिछले दो साल में सरकार के कर राजस्व में तेज़ उछाल आया है। इसके अलावा वित्त मंत्री ने साफ किया है कि आयकर विभाग को कोई मनमानी शक्ति नहीं दी जाएगी। इसके अलावा किसानों की आय पर कोई कर भी नहीं लगाया जाएगा। वित्त मंत्री ने कहा है कि GST को '1 जुलाई से लागू करने की हरसंभव कोशिश की जा रही है, वहीं पुर्नमुद्रीकरण की प्रक्रिया भी पूरी की जा चुकी है।

 

फाइनैंस बिल पर जवाब देते हुए अरुण जेटली ने कहा कि जब दुनिया टैक्स की चोरी रोकने की वकालत कर रहा है तो देश में कुछ राजनीतिक दल कैश इकॉनमी की वकालत कर रहे है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति टैक्स की चोरी कर रहा वो देश की हित की चोरी कर रहा है।


अरुण जेटली की बड़ी बातें...


- कैश ट्रांजैक्शन की सीमा को हम घटाकर 2 लाख कर रहे है


- राजनैतिक पार्टी की फंडिंग पर कांग्रेस समेत सभी दल सुझाव दें


 - राजनीतिक चंदे को साफ-सुथरा बनाने के लिये निर्वाचन बॉन्ड का प्रस्ताव किया गया है क्योंकि काफी सारा धन अज्ञात स्रोत से आता है


- जेटली ने कहा कि मौजूदा जन प्रतिनिधि कानून के तहत 20,000 रुपये से अधिक चंदा देने पर व्यक्ति की पहचान उजागर करने की आवश्यकता होती है। संशोधन के तहत अगर धन निर्वाचन बॉन्ड के जरिये आता है, पहचान का खुलासा नहीं किया जाएगा


- एक एक व्यक्ति ने 5-5 पैन कार्ड बनवाये हैं उसको टैक्स चोरी के लिए इस्तेमाल करे ये नहीं हो सकता। अब आधार नंबर देना होगा जिसके पास नहीं है उसे बताना होगा आवेदन किया है