पद्मावती को लेकर अब सीएम वसुंधरा राजे ने केंद्र को लिखी चिट्ठी

केजे श्रीवत्सन, जयपुर (19 नवंबर): पद्मावती फिल्म के भारी विरोध के बीच अब राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने केंद्र को चिट्ठी लिखी है। इसमें जरूरी बदलाव के बाद ही फिल्म की रिलीज को हरी झंडी देने की मांग की गई है।

वसुंधरा ने सूचना प्रसारण मंत्री से इतिहासकारों, फिल्मकारों और विरोध करने वाले संगठनों के प्रतिनिधियों की कमेटी बनाने की मांग की है। राजे ने अपील की है कि इनकी हां के बाद ही फिल्म को हरी झंडी मिले। सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को लिखी चिट्ठी में वसुंधरा राजे ने लिखा है कि बिना जरूरी बदलाव के फिल्म रिलीज ना हो। जिससे किसी समुदाय की भावना को ठेस नहीं पहुंचने पाए।

चिट्ठी में लिखा गया है कि सेंसर बोर्ड को फिल्म प्रमाणित करने से पहले इसके सभी संभावित नतीजों पर विचार करना चाहिए। प्रसिद्ध इतिहासकारों, फिल्मी हस्तियों और पीड़ित समुदाय की एक समिति गठित की जाए, जो इस फिल्म और इसके कथानक पर विस्तार से विचार करे। उसके बाद ऐसे आवश्यक परिवर्तन किए जाएं जिससे किसी भी समाज की भावनाओं को आघात ना लगे। वसुंधरा राजे ने ये चिट्ठी करनी सेना समेत कई संगठनों के जबर्दस्त विरोध के बाद लिखी है।

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र को चिट्ठी लिखकर फिल्म की रिलीज को लेकर शांति-व्यवस्था भंग होने की आशंका जताई थी। योगी के ऐतराज के बाद मध्यप्रदेश के 50 बीजेपी विधायकों ने एमपी में फिल्म पर बैन की मांग कर डाली। इसे सीएम शिवराज सिंह ने गंभीरता से लेने की बात कही। 20 नवंबर को राजपूत समाज के प्रतिनिधियों से मुलाकात के बाद शिवराज सरकार कोई फैसला करेगी।