दो दिवसीय दौरे पर कल भारत पहुंचेंगे अमेरिकी रक्षा मंत्री, फाइटर जेट, ड्रोन को लेकर हो सकता है समझौता

नई दिल्ली(24 सितंबर): अमेरिकी रक्षा मंत्री जैम्स मेटिस दो दिन की यात्रा पर सोमवार को भारत पहुंच रहे हैं। अपने दौरे में वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन से बात करेंगे। ट्रंप प्रशासन के किसी कैबिनेट स्तर के मंत्री का यह पहला भारत दौरा होगा।

- अपनी यात्रा में मैटिस इंडिया गेट पर शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे और इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री सीतारमन से मिलेंगे। 

- मैटिस की यह दौरा संयुक्त राष्ट्र महासभा से इतर भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके अमेरिकी समकक्ष रेक्स टिलरसन की बातचीत के बाद हो रहा है। स्वराज और टिलरसन ने अपनी बातचीत के दौरान पाकिस्तान, अफगानिस्तान और आतंकवाद पर चर्चा की थी। 

- वे अफगानिस्तान में लोकतंत्र, स्थिरता, समृद्धि और सुरक्षा स्थापित करने में भारत के सहयोग की सराहना करेंगे। 

- भारत और अमेरिका के मजबूत राजनीतिक संबंधों के चलते दोनों देशों के बीच रक्षा समझौते परवान चढ़ रहे हैं। ऐसी ही एक कोशिश अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस के भारत दौरे के वक्त होगी। वो भारत के साथ रक्षा सहयोग बढ़ाने के एजेंडे पर कार्य करेंगे। दोनों देशों में समुद्री सुरक्षा, आतंकवाद के खिलाफ सहयोग और संयुक्त रक्षा उत्पादन प्रॉजेक्ट पर चर्चा होने की संभावना है। इसके अलावा चीन और अफगानिस्तान-पाकिस्तान क्षेत्र में सुरक्षा हालात की चुनौतियों से निपटने पर भी बात की जाएगी। भारत की नई रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अमेरिकी रक्षा मंत्री के साथ यह पहली मुलाकात होगी।

- मैटिस के भारत दौरे में निगरानी और खुफिया सूचना इकट्ठा करने में मुस्तैद 22 अमेरिकी गार्डियन ड्रोन की खरीददारी के सौदे पर हस्ताक्षर हो सकते हैं। दो से तीन अरब डॉलर की कीमत वाले 22 गार्डियन ड्रोनों की बिक्री संबंधी सौदे की औपचारिक रूप से घोषणा नहीं की गई है। भारत की कोशिश होगी कि मैटिस के इस दौरे में एफ-16 लड़ाकू विमान को लेकर समझौता हो जाए।