जानवरों पर होता है अत्‍याचार, लगता है करोड़ों का सट्टा

नई दिल्‍ली (13 जनवरी): आपने कहावतों में सुना होगा की मुर्गी सोने का अंडा देती है, लेकिन जब हैवानियत के इस खेल से सट्टा जुड़ जाता है तो कहावत हकीकत में बदल जाती है। आंध्र प्रदेश के कई इलाकों में मुर्गों की लड़ाई का खेल नया नहीं है, लेकिन इस अत्याचार के साथ-साथ हाल के दिनो में जुड़ी करोड़ो की सट्टेबाजी ने इसे नया रंग जरूर दे दिया है।

हर साल मकर संक्रांति के करीब मुर्गों की लड़ाई का महायुद्ध आंध्र प्रदेश के कई इलाकों में होता है और प्रशासन की नाक के नीचे इस पर 100-200 करोड़ का सट्टा लगता है। वहीं देश की राजधानी से सटे इलाकों में कुछ सनकी कैसे कुत्तों के साथ बर्बरता को बढ़ावा दे रहे थे। डॉग फाइट के नाम पर जमकर सट्टेबाजी हो रही थी, लेकिन इस फाइट में दांव पर लगी थी बेजुबानों की जिंदगी।  

देश भर में मकर संक्रांति पर जमकर पतंगबाजी होती है। लेकिन अब इस त्योहार के नजदीक आते ही कई लोगों के दिलों में दहशत भर चुकी है। वजह है हवा में मौत बनकर मंडराता ये खूनी मांझा ना सिर्फ इंसानों की जिंदगी के लिए खतरा है बल्कि जानवर भी इस मांझे की चपेट में आकर दम तोड़ रहे हैं।

देखिए पूरी रिपोर्ट:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=UEQwa1mPNAY[/embed]