मेरठ में 1500 हिंदुओं ने किया धर्म परिवर्तन

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (25 अक्टूबर): यूपी के मेरठ में बड़ी तादाद में हिंदुओं के धर्म परिवर्तन कर बौद्ध धर्म अपनाने का मामला सामने आया है। इसके लिए सुभारती यूनिवर्सिटी में बाकायदा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सुभारती विश्वविद्यालय के सर्वेसर्वा डॉ अतुल कृष्ण और उनके परिवार के नेतृत्व में हिंदू धर्म से खुद को अलग कर लिया। इस मामले में डॉ. अतुल कृष्ण का कहना है कि पिछड़े तबके को लोगों पर जुल्म ही धर्म परिवर्तन का मुख्य कारण हैं।यूपी के मेरठ के सुभारती यूनिवर्सिटी के सर्वेसर्वा डॉक्टर अतुल कृष्ण आगे-आगे जो बोलते जा रहे थे, मौके पर मौजूद लोग उसे दोहराते चले जा रहे थे और इस तरह करीब 15 सौ हिन्दुओं के धर्म परिवर्तन कर बौद्ध धर्म अपनाने का दावा किया गया। बुधवार को हुए इस कार्यक्रम का आयोजन भी डॉक्टर अतुल कृष्ण ने ही किया था, जिसमें हिस्सा लेने के लिए लोग सुबह से ही जुटने लगे थे, जिन्हें कार्यक्रम के दौरान बौद्ध धम्म की दीक्षा दिलाई गई।अतुल कृष्ण ने कई महीने पहले धर्मांतरण का ये अभियान छेड़ा था। सुभारती यूनिवर्सिटी परिसर के अंदर शुरू किए गए स्कूल ऑफ बुद्धिज्म स्टडी में धर्मांतरण के इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें बौद्ध धर्म अपनाने वालों ने स्वेच्छा से ऐसा करने का दावा किया।सरकार को इस बारे में सोचने की जरूरतइस आयोजन में धर्मांतरण अनुष्ठान का नेतृत्व करने वाले बौद्ध भिक्षु डॉ. चंद्रकीर्ति की मानें तो पिछले दिनों अनुसूचित जाति के दबे कुचले लोगों पर जो अत्याचार हुए यह धर्मांतरण उसी का परिणाम है। उनका मानना है कि इतनी बड़ी तादात में हिंदुओं के धर्मांतरण के बाद सरकार पर भी इसका असर पड़ेगा और सरकार सोचने को मजबूर होगी।